नोटबंदी के साइड इफेक्टः गुलाबी नोट देखकर खाकी हुई बेइमान, 3 पुलिसकर्मी सस्पेंड

करनाल

हरियाणा के करनाल से डिप्टी मेयर के अकाउंटेंट के पास लाखों की करंसी बरामद हुई है, जिसको लेकर करनाल पुलिस ने गुलिया समेत 2 ASI के खिलाफ करप्शन अधिनियम के तहत मामला दर्ज कर उन्हें सस्पेंड कर दिया गया है.

मिली जानकारी के अनुसार पुलिस ने डिप्टी मेयर से 16.45 लाख रुपए की नकदी के साथ काबू किया. बरामद की गई राशि में 14 लाख. 42 लाख की करेंसी नई है, जो दो-दो हजार के नोट में है. पुलिस ने मामला आयकर विभाग के हवाले कर दिया है. उधर डिप्टी मेयर वधवा का कहना है कि यह राशि कारोबार की है.
police1
तरावड़ी थाना प्रभारी जसमेर सिंह ने बताया कि उन्हें सूचना मिली थी कि डेरी मोहल्ला निवासी मोहित पोपली के पास नकद रुपए है और वह इस समय भाटिया कॉलोनी तरावड़ी में किसी के घर पर है. इस सूचना के आधार पर पुलिस ने भाटिया कॉलोनी स्थित ज्योति नामक युवक के घर से मोहित को नोटों से भरे बैग सहित पकड़ लिया.

मोहित ने पुलिस की गिरफ्त से भागने की कोशिश की, लेकिन पकड़ा गया. पूछताछ में उसने बताया कि वह करनाल नगर निगम के डिप्टी मेयर मनोज वधवा के पास एकाऊंटेंट का काम करता है और यह पैसा उन्हीं का है, जो मार्केट से उसने इकटठा किया है.

इस पर पुलिस ने मामले की जानकारी इनकम टैक्स अधिकारियों को दी. इनकम टैक्स अधिकारी तरावड़ी थाने पहुंचे और करेंसी को कब्जे में लेकर जांच शुरू कर दी.

Share With:
Rate This Article