दुनिया का सबसे बड़ा आदमखोर तेंदुआ अब बनेगा म्यूजियम की शान

बिलासपुर

जिला बिलासपुर के घुमारवीं में हाल ही में मारा गया आदमखोर तेंदुआ विश्व का सबसे बड़ा तेंदुआ था. ऐसा वन विभाग ने दावा किया है. लिहाजा अब तेंदुए के शव को जलाने की बजाय म्यूजिम में रखने का फैसला लिया गया है.

मृतक तेंदुए की लंबाई 8 फुट 7 ईंच व ऊंचाई 34 ईंच से अधिक है. हिंसक हो चुके तेंदुए को मारने के बाद उसे जलाया नहीं जाएगा, बल्कि उसे म्यूजियम में रखा जाएगा.
leopard2
अभियान चलाकर मारा गया ये तेंदुआ एक विशेष तेंदुआ था. बड़ी मुश्किल में सर्च एंड हंट ऑपरेशन टीम के हाथ लगा. घुमारवीं तहसील के पट्टा गांव में प्रोफेशनल शार्प शूटरों द्वारा मारे गए आदमखोर तेंदुए को म्यूजियम में रखने का फैसला किया गया है.

दरअसल, ये आदमखोर तेंदुआ 7 साल का था. इसका वजन 70 किलो 850 ग्राम था. जबकि लंबाई 8 फुट 7 इंच व ऊंचाई 34 इंच से अधिक पाई गई. सनद रहे कि 27 दिनों से यह तेंदुआ वन विभाग के शूटरों को गच्चा दे रहा था. हाल ही में शुक्रवार को शूटरों के निशाने पर आ गया.
leopard4
सर्च एंड हंट ऑपरेशन में लोकल व बाहरी जिले के 15 शूटरों की टीम, वन विभाग के करीब 20 कर्मी जुटे रहे. तेंदुए की लोकेशन को जानने के लिए दो कैमरा ट्रैप व तीन पिंजरे भी लगे थे. मगर तेंदुआ इन कैमरा ट्रैप की रॉडार में नहीं आया.

आदमखोर तेंदुए को पकड़ने के लिए लगाए गए 3 पिंजरे भी खाली रहे. वन विभाग के अधिकारियों के अनुसार यह वहीं आदमखोर तेंदुआ है, जिसने दधोल क्षेत्र में एक व्यक्ति पर हमला कर उसे मौत के घाट उतार दिया था.
leopard3
वन विभाग बिलासपुर के अनुसार तेंदुए की शारीरिक संरचना व अध्ययन से पता चलता है कि यह हिमाचल में अब तक मारे गए आदमखोर तेंदुओं के इतिहास में भारी-भरकम व विशेष तेंदुआ था. इसे जलाने की बजाय अध्ययन के लिए म्यूजियम में रखा जाएगा, ताकि विभाग लोगों को सचेत करते हुए यह बता सके कि कोई तेंदुआ कैसे आदमखोर बनता है.

Share With:
Rate This Article