पति के बिना बाजार गई महिला का सिर किया कलम, तालिबान आतंकियो ने दिया था फरमान

पति के बिना बाजार गई महिला का सिर किया कलम, तालिबान आतंकियो ने दिया था फरमान

बगदाद

एक महिला का सिर इसलिए कलम कर दिया गया क्योंकि वह अपने पति के बिना शहर में निकल गई थी, अफगानिस्तान के अधिकारियों ने कहा कि 30 वर्षीय महिला उत्तरी अफगानिस्तान के सर-ए-पुल प्रांत में शाम को अकेले निकल गई थी.
उसका सिर कलम कर सोमवार शाम को उसकी हत्या कर दी गई थी। मिडिल ईस्ट प्रेस ने सरकारी प्रवक्ता के हवाले से कहा कि तालिबान आतंकवादियों ने पुरुष अभिभावक के बिना खरीदारी के लिए निकलने पर महिला की हत्या कर दी।

लाती में तालिबान का कब्जा है और यहां महिलाओं के साथ जबरदस्त भेद-भाव किया जा रहा है। महिलाओं के सार्वजनिक जगह पर तेज आवाज पर बोलने और मीडिया के सामने आने पर प्रतिबंध है।

दंड में सार्वजनिक रूप से कोड़े मारने और फुटबॉल स्टेडियम में फांसी दिया जाना शामिल है। नेशनल ब्रॉडकास्टर तोलो न्यूज ने प्रांतीय गवर्नर स्पोक्समैन जबीउल्लाह अमानी के हवाले से बताया कि महिला के पति ईरान में है और उनके बच्चे नहीं हैं.

इस मामले में किसी को भी गिरफ्तार नहीं किया गया है और तालिबान ने कथिततौर पर किसी इस मामले में अपना हाथ होने से साफ इंकार किया है, सुन्नी कट्टरपंथी मूवमेंट सोवियत संघ के दिनों में शुरू हुआ था और यह 1994 में अफगानिस्तान के गृह युद्ध के समय में उभरा.

Share With:
Rate This Article
No Comments

Leave A Comment