मोतियाबिंद आप्रेशन में लापरवाही का मामला: 2 मरीजों की लौटी आंशिक रोशनी

पालमपुर

मेला मल सूद रोटरी आई अस्पताल मारंडा के सर्जन डाक्टर सुधीर सलोत्रा ने डा. राजेंद्र प्रसाद टांडा मैडीकल कालेज में मोतियाबिंद के आप्रेशन में लापरवाही के उपरांत रोशनी गंवा चुके मरीजों में से 2 की आंखों में आंशिक रोशनी वापस ला दी है.

मारंडा रोटरी आई अस्पताल के लेजर विशेषज्ञ डाक्टर सुधीर सलोत्रा ने बताया कि बुधवार को 2 मरीजों त्रिलोक चंद (73) तथा ख्याति लाल (65) को अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है, जिनकी आंशिक रोशनी वापस आ गई है और एक अन्य मरीज ईशा देवी (69) अभी मारंडा में ही उपचाराधीन है.

मरीजों के परिजनों के मुताबिक त्रिलोक चंद की 35 प्रतिशत और ख्याति लाल की 50 प्रतिशत नजर लौट आई है. मारंडा अस्पताल के डाक्टर सुधीर द्वारा किए गए इन मरीजों के सफल ऑप्रेशनों को महान उपलब्धि माना जा रहा है, जिनकी रोशनी टांडा मैडीकल कालेज के चिकित्सकों की लापरवाही से छिन गई थी. बता दें कि आज तक मारंडा में रोटरी के आई अस्पताल में लाखों मरीज यहां के विभिन्न नेत्र रोग विशेषज्ञों के हाथों नई दुनिया देख पाए हं.

Share With:
Rate This Article