विश्वयुद्ध के बाद पहली बार पर्ल हार्बर पहुंचे जापानी पीएम, शहीदों को दी श्रद्धांजलि

पर्ल हार्बर (अमेरिका)

अमेरिका के राष्ट्रपति बराक ओबामा ने जापान के नेता शिंजो अबे की आज मेजबानी की जो पर्ल हार्बर की यात्रा पर आए हैं और उन्होंने ‘हमसे अलग लोगों को शैतान नहीं बनाने’ की अपील की.

ओबामा ने दोनों देशों के बीच सहयोग की प्रशंसा की और कहा कि ये संबंध ‘पहले इतने मजबूत कभी नहीं रहे.’ ओबामा का कार्यकाल अगले महीने समाप्त होगा.

ओबामा ने जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे से कहा कि राष्ट्रों के चरित्र की परीक्षा युद्ध में होती है, लेकिन इसका निर्धारण शांति के समय होता है, ओबामा ने कहा कि जब घृणा अपने चरम पर होती है, जब हम कबीलाई खींचतान के दौर में वापस पहुंच जाते है, हमें तब भी खुद में सिमटने की इच्छा से बचना चाहिए, हमें उन लोगों को शैतान बनाने की इच्छा से बचना चाहिए जो हमसे जुदा हैं. ओबामा ने कहा कि मैं मित्रता की भावना के तहत आपका यहां स्वागत करता हूं.

उन्होंने कहा कि मैं उम्मीद करता हूं कि हम दुनिया को संदेश देंगे कि युद्ध के मुकाबले शांति में जीतने की ताकत अधिक होता है और सुलह से प्रतिकार के बजाए अधिक प्रतिफल मिलता है.

आबे ने जापानी लड़ाकों द्वारा मारे गए 2400 से अधिक अमेरिकियों के परिवारों के प्रति ‘सच्चे दिल से संवेदनाएं प्रकट’ कीं. उन्होंने जिस कुख्यात हमले के बाद द्वितीय विश्व युद्ध में अमेरिका ने प्रवेश किया था, उसके 75 साल पूरे होने के अवसर पर कहा कि हमें युद्ध की भयावहता को दोहराना नहीं चाहिए. आबे ने बराक ओबामा के निकट खड़े होकर सुलह की शक्ति की प्रशंसा की और ‘जापान के प्रति सहिष्णुता अपनाने’ के लिए धन्यवाद किया.

Share With:
Rate This Article
No Comments

Leave A Comment