रेल हादसे में मुआवजे की राशि हुई दोगुनी, मृतक के परिजनों को अब मिलेंगे 8 लाख रुपए

दिल्ली

रेल मंत्रालय ने ट्रेन दुर्घटनाओं में घायल होने वाले और मृतकों के परिजनों को मिलने वाली मुआवजे की राशि में इजाफा कर दिया है. सरकार ने रेलवेज ऐक्ट, 1989 में संशोधन कर दिया है, इससे दुर्घटनाओं में विकलांग होने और मृतकों के परिजनों को दोगुनी राशि मिल सकेगी.

वहीं, मृतकों के परिजनों को मिलने वाली राशि को 4 लाख से बढ़ाकर 8 लाख रुपये कर दिया गया है. एक आधिकारिक सूचना में कहा गया, ‘रेलवे दुर्घटना एवं आकस्मिक आपदा क्षतिपूर्ति संशोधन नियम, 2016 के मुताबिक मृतक एवं गंभीर रूप से घायल होने वाले जैसे हाथ या पैर गंवाने वाले लोगों को मिलने वाली मुआवजे की राशि को 4 लाख से बढ़ाकर 8 लाख रुपये कर दिया गया है.’

घायलों और मृतकों के परिजनों को यह राशि रेलवेज क्लेम ट्रिब्यूनल के जरिए दी जाएगी. रेल मंत्रालय के एक सीनियर अधिकारी ने बताया कि गंभीर रूप से घायल व्यक्ति को भी जांच की प्रक्रिया पूरी होने के बाद 8 लाख रुपये की ही राशि दी जाएगी. नोटिफिकेशन के मुताबिक यदि दुर्घटना में किसी की आंखों की रोशनी चली जाती है या फिर पूरी तरह बहरे होने की स्थिति में 8 लाख रुपये मुआवजे के तौर पर मिलेंगे.

दुर्घटना यदि किसी व्यक्ति के चेहरे पर गंभीर चोटें आती हैं तो वह भी 8 लाख रुपये की राशि का हकदार होगा. सूत्रों के मुताबिक रेलवे का यह नोटिफिकेशन जनवरी से ही लागू होगा.

Share With:
Rate This Article