मायावती बोलीं- हमारे पास एक-एक पैसे का हिसाब, BSP की छवि खराब करने की कोशिश

मायावती बोलीं- हमारे पास एक-एक पैसे का हिसाब, BSP की छवि खराब करने की कोशिश

दिल्ली

ईडी द्वारा दिल्ली के एक बैंक में छापामारी कर मायावती के भाई और बसपा के एकाउंट में करोड़ों रुपए का पता लगाने के बाद आज मायावती ने पलटवार करते हुए कहा कि BSP ने नियमों के मुताबिक खाते में पैसा जमा कराया है.

एक प्रेस कॉन्फ्रेंस कर सरकारी कार्रवाई का जवाब देते हुए मायावती ने कहा, ‘अगस्त महीने के दौरान मेंबरशिप का पैसा आया, उस समय मैं देशभर के दौरे पर थी. मेंबरशिप के लिए बड़े नोट सदस्यों ने जमा कराए. लेकिन पार्टी की छवि खराब करने की कोशिश की जा रही है. नोटबंदी पर मेरे बयान से बीजेपी की नींद उड़ गई है. हमारी पार्टी कार्यकर्ताओं ने पैसा जमा कराए हैं और हमारे पास एक-एक पैसे का हिसाब है.’

मायावती ने अपने भाई के बैंक एकाउंट में भारी रकम पाए जाने पर सफाई देते हुए कहा कि बीएसपी के प्रभावशाली लोगों को परेशान किया जा रहा है. उन्होंने कहा कि मेरा भाई कारोबारी है और उसे परेशान किया जा रहा है. उन्होंने कहा कि सरकारी मशीनरी का इस्तेमाल कर जो परेशान कर रहे हैं, उनकी दलित विरोधी और जातिवादी मानसिकता साफ उजागर हो जाती है.

उन्होंने कहा कि इस दौरान बीजेपी सहित अन्य पार्टियों ने भी अपना पैसा बैंक में जमा कराया है, लेकिन उसकी चर्चा नहीं होती. बीजेपी और अन्य पार्टियों ने 8 नवंबर के बाद बैंक एकाउंट में जो पैसा जमा कराया है, उसका ब्योरा दें. उन्होंने कहा कि ये पार्टी का पैसा है जो ईमानदारी से और नोटबंदी के पहले जमा कराया गया है. लेकिन बीजेपी के इशारे पर हमारी छवि खराब खराब करने की कोशिश की जा रही है.

उन्होंने कहा, ‘बीएसपी ने नियमों के मुताबिक ही एकत्रित धनराशि को हमेशा की तरह बैंक में जमा कराया है. ये पार्टी का पैसा है, इसे फेंक दूं ? हमारे एक-एक पैसे का हिसाब है. बीजेपी सरकारी मशीनरी का दुरुपयोग कर बीएसपी और उसकी प्रमुख मायावती की छवि खराब करने की कोशिश कर रही है.

Share With:
Rate This Article
No Comments

Leave A Comment