सोनिया की कोशिशों को झटका, नोटबंदी पर मोदी के खिलाफ एकजुट नहीं हो पाए विपक्षी दल

दिल्ली

नोटबंदी पर विपक्ष को नए सिरे से एकजुट करने की कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी की कोशिशें नाकाम होती दिख रही हैं. सरकार के खिलाफ नोटबंदी पर विपक्षी दलों के शीर्ष नेताओं की बुलाई गई बैठक में तीन अहम दल माकपा, एनसीपी और जदयू शामिल नहीं होगा.

वहीं समाजवादी पार्टी और बसपा की ओर से भी अभी तक इसमें शामिल होने के कोई संकेत नहीं है. जबकि पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री तृणमूल कांग्रेस नेता ममता बनर्जी कांग्रेस की बैठक में शामिल होने के लिए दिल्ली पहुंच गई हैं.

समझा जाता है कि कांग्रेस हाईकमान की ओर से पार्टी के रणनीतिकारों ने बैठक में आने से इनकार करने वाले दलों के नेताओं को सोमवार को राजी करने की भरसक कोशिश की. मगर संसद के शीतकालीन सत्र के आखिरी दिन राहुल गांधी की किसानों के मुद्दे पर अकेले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से हुई मुलाकात से बिफरे इन दलों ने फिलहाल मंगलवार की बैठक में नहीं शामिल होने का कांग्रेस नेतृत्व को दो टूक संदेश दे दिया.

गौरतलब है कि नोटबंदी की दिक्कतों को लेकर कांग्रेस की अगुवाई में 16 पार्टियां एकजुट हुई थी. मगर कांग्रेस के अकेले पीएम से मिलने से नाराज होने के चलते तब छह दलों ने राष्ट्रपति भवन मार्च में शामिल होने से इनकार कर दिया था. माकपा नेता सीताराम येचुरी ने कांग्रेस की ओर से नोटबंदी पर आगे की सियासी लड़ाई का रास्ता तय करने के लिए बुलाई गई बैठक में शामिल नहीं होने का अपना रुख साफ करते हुए कहा कि जाहिर तौर पर सभी 16 पार्टियां मंगलवार की बैठक में नहीं होंगी.

Share With:
Rate This Article