साढ़े 5 महीने बाद दोबारा संभाली पानीपत की कमान, थाना प्रभारियों से की मीटिंग

पानीपत

साढ़े 5 महीने बाद दोबारा पानीपत पुलिस की कमान SP राहुल शर्मा के हाथों में सौंपी गई है. गुरुवार को हालांकि SP ने मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर के कार्यक्रम से पूर्व पदभार संभाल लिया था लेकिन वे अपने कार्यालय में नहीं आए थे.

शुक्रवार को SP राहुल शर्मा ने अपने कार्यालय में जिले में तैनात सभी उप पुलिस अधीक्षक व थाना-चौकी इंचार्ज के साथ मीटिंग की. इस दौरान SP ने सभी DSP व थाना-चौकी प्रभारियों को दिशा-निर्देश दिए.

उन्होंने कहा कि थाना व चौकी में शिकायत लेकर आने वाले प्रत्येक फरियादी की शिकायत अच्छे से सुनकर उसकी समस्या का समाधान करें अगर सभी पुलिस कर्मचारी अपने थाना व चौकी में अच्छे से कार्रवाई करें तो आमजन के सामने आने वाली परेशानी स्वयं ही दूर हो जाएगी.

SP राहुल शर्मा से इससे पहले 23 नवम्बर 2014 से 5 जुलाई 2016 तक पानीपत में SP का पदभार संभाला. उनके कार्यकाल में उन्होंने कई बड़े मामलों का खुलासा किया, साथ ही ऐसे ब्लाइंड मर्डर जो लंबे समय से अनट्रेस थे. उनका भी खुलासा करते हुए आरोपियों को सलाखों के पीछे पहुंचाया.

SP राहुल शर्मा ने निर्देश दिए कि जिले में अवैध शराब, जुआ, सट्टा व काले गोरखधंधे में संलिप्त आरोपियों को तुरंत काबू कर उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाए. अगर किसी थाना या चौकी क्षेत्र में किसी प्रकार की आपराधिक वारदात घटित होती है तो सम्बंधित थाना व चौकी इंचार्ज तुरंत घटनास्थल पर पहुंचे.

SP ने पुलिस अधिकारियों को आमजन के साथ अच्छे से तालमेल बनाए रखने के निर्देश दिए. उन्होंने कहा कि अगर किसी पुलिस अधिकारी को किसी प्रकार की कोई जिम्मेदारी मिलती है तो अपने विभाग की छवि को धूमिल न होने दें. हर विभाग में कुछ कर्मचारी ऐसे होते हैं जो स्वहित के लिए गलत काम करते हैं. इसमें बदनामी पूरे विभाग की होती है.

SP ने सभी पुलिस अधिकारियों व कर्मचारियों से कहा कि आप सभी मेरे साथ मिलकर पहले भी कार्य कर चुके हैं इसलिए आप सभी से यही आशा करूंगा कि आप सभी पूरी ईमानदारी और लगन के साथ अपनी ड्यूटी करें अगर किसी भी पुलिस कर्मचारी को किसी प्रकार की कोई समस्या है तो वह नि:संकोच उन्हें बताए.

Share With:
Rate This Article