राहुल गांधी का मोदी पर हमला, नोटबंदी ने उतार दी हिमाचल की ‘टोपी’

धर्मशाला

कांग्रेस के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने एक बार फिर केंद्र की मोदी सरकार के खिलाफ हमला बोला है. उन्होंने कहा कि नोटबंदी केवल देश के 50 परिवारों को लाभ पहुंचाने के लिए की गई है.
rahul1
उन्होंने कहा कि देश के 50 बड़े परिवारों ने देश का 8 लाख करोड़ रुपये खत्म कर दिया. उसे पूरा करने के लिए मोदी ने नोटबंदी कर दी. ताकि यह धन देश के आम लोगों से पूरा किया जा सके. हिमाचल प्रदेश के धर्मशाला में कांग्रेस सरकार के चार साल पूरा होने पर आयोजित रैली के दौरान राहुल गांधी ने कहा कि नोटबंदी ने देश के 99 प्रतिशत आम लोगों पर मार की है. उन्होंने कहा कि मोदी को देश की जनता को नोटबंदी का सच बताना होगा.
rahul3
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जिस कैशलैस इकोनॉमी की बात करते है, उसका आने वाले दिनों में परिणाम यह होगा कि यह देश 50 बड़ी कंपनियों के अधीन हो जाएगा. उन्होंने कहा कि ढ़ाई साल में नरेंद्र मोदी सरकार ने केवल गरीबों पर आक्रमण किया है। मध्य प्रदेश सहित जिन प्रदेशों में भाजपा की सरकारें है, वहां आदिवासियों की जमीनें छीनी जा रही है.
rahul2
उन्होंने कहा कि भ्रष्टाचार के नाम पर नरेंद्र मोदी ने नोटबंदी की है, वो केवल एक प्रतिशत यानी 50 परिवारों को लाभ पहुंचाने के लिए की है. उन्होंने कहा कि देश में एक प्रतिशत लोगों के पास काला धन है.

इसमें छह प्रतिशत कैश के रूप में और 94 प्रतिशत रियल इस्टेट के रूप में. लेकिन इन लोगों की बजाए 99 प्रतिशत देश की आम जनता पर नोटबंदी की मार कर दी गई. राहुल गांधी ने कहा कि नरेंद्र मोदी ने 12 सौ करोड़ का लड्डू विजय माल्या को खिलाया.

लेकिन आज माल्या आराम से विदेश में है. माल्या सहित अन्य उन बड़े घरानों जो मोदी के साथ विमान में घूमते है, उनको लाभ देने के लिए मोदी सरकार ने किसानों पर बार किया.

उन्होंने कहा कि मोदी नोटबंदी के बाद पैदा हुए हालात को महज 50 दिन में ठीक होने की बात कह रहे हैं. लेकिन यह हालात अगले छह सात माह तक ठीक नहीं होंगे. राहुल गांधी ने फिर दोहराया कि मोदी देश को नोटबंदी का सच बताएं. उन्होंने कहा कि भले ही मोदी नोटबंदी पर उनके द्वारा पूछे जा रहे सवालों पर मजाक उड़ा रहे हो, वह जितना मर्जी मेरा मजाक उड़ाते रहे. लेकिन इन सवालों का जबाव देश की जनता को जरूर दें.

इस मौके पर राहुल गांधी ने वीरभद्र सिंह का धन्यवाद करते हुए कहा कि उन्होंने प्रदेश व देश की जनता के लिए अपने जीवन के 50 वर्ष दिए. इससे पहले हिमाचल के मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह, प्रदेशाध्यक्ष कांग्रेस सुखविंद्र सुक्खू व धर्मशाला के विधायक एवं शहरी विकास मंत्री सुधीर शर्मा ने भी अपने विचार रखे.

Share With:
Rate This Article