पाकिस्‍तान से सभी मतभेद भुलाकर CPEC का हिस्‍सा बने भारत: चीनी मीडिया

बीजिंग

चीन की आधिकारिक मीडिया का कहना है कि बीजिंग पाकिस्तान पर आतंकवाद का समर्थक ठहराने के किसी प्रयास का कड़ा विरोध करेगा. साथ ही उसने भारत को 46 अरब डॉलर के आर्थिक कॉरिडोर से जुड़ने के एक शीर्ष पाकिस्तानी जनरल की ओर से की गई पेशकश को स्वीकार करने का भी अनुरोध किया है. भारत को चीन-पाकिस्तान आर्थिक कॉरिडोर (सीपेक) से जुड़ने के लिए पाकिस्तान की ओर से कई गई पेशकश को स्वीकार करने पर विचार करना चाहिए.

पाकिस्तानी सेना के दक्षिणी कमान के कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल रियाज ने इस हफ्ते कथित तौर पर कहा था कि भारत को पाकिस्तान के साथ शत्रुता त्यागकर इस आर्थिक कॉरिडोर से जुड़ना चाहिए. चीनी समाचार पत्र के मुताबिक शत्रुता को कम करने का सबसे अच्छा तरीका परस्पर फायदों पर आधारित आर्थिक सहयोग स्थापित करना है. इससे उन चीजों को अलग रखा जाए जिनसे सहमति नहीं बन सकती है.

उसने कहा कि भारत सीपेक से खुलने वाले नए व्यापार मार्गों के जरिए अपना निर्यात बढ़ा सकता है और चीन के साथ व्यापार घाटे को कम कर सकता है. अगर भारत इस परियोजना से जुड़ता है तो इससे पाकिस्तान और जम्मू-कश्मीर की सीमा से लगे भारत के उत्तरी इलाके में अधिक आर्थिक प्रगति होगी.

Share With:
Rate This Article