लीबियाई विमान को हाईजैक करने वालों ने माल्टा में किया सरेंडर

वालेटा

लीबिया के एक विमान का अपहरण करने वाले लोग उसे माल्टा ले गए और बाद में विमान में सवार सभी लोगों को रिहा करने के साथ अधिकारियों के समक्ष आत्मसमर्पण कर दिया. अपहरणकर्ताओं ने अपने पास हथगोले होने का दावा किया था.

माल्टा के प्रधानमंत्री जोसेफ मस्कट ने ट्विटर पर लिखा, ‘‘चालक दल के आखिरी सदस्य विमान से अपहरणकर्ताओं के साथ बाहर निकल रहे हैं. कुछ मिनटों के बाद उन्होंने एक और ट्वीट किया, ‘‘अपहरणकर्ताओं ने आत्मसमर्पण कर दिया जिसके बाद उनकी तलाशी ली गयी और फिर उन्हें हिरासत में ले लिया गया.

लीबिया के विदेश मंत्री ताहिर सियाला ने कहा कि दोनों अपहरणकर्ता मृत तानाशाह मुअमर कज्जाफी के समर्थक हैं और उन्होंने माल्टा में राजनीतिक शरण मांगा थी. उन्होंने कहा कि अपहरणकर्ता कज्जाफी समर्थक राजनीतिक दल की स्थापना करना चाहते थे.

माल्टा में विमान दिन में 11 बजकर 32 मिनट :अंतरराष्ट्रीय समयानुसार दस बजकर 32 मिनट: उतरा. हवाईअड्डे के टरमैक पर एक घंटे से ज्यादा समय तक खड़ा रहने के बाद एयरबस ए320 का दरवाजा खुला और सीढ़ियों से महिलाओं एवं बच्चों का पहला समूह उतरते दिखा.

गहन बातचीत करने के साथ इसके कुछ मिनट बाद दर्जनों और यात्रियों को रिहा कर दिया गया. माल्टा सरकार के अनुसार देश की सेना के प्रमुख ने बातचीत का नेतृत्व किया. कुल मिलाकर विमान में 111 यात्री थे जिनमें 28 महिलाएं, एक बच्ची और चालक दल के सात सदस्य शामिल थे. अफ्रीकियाह एयरवेज द्वारा संचालित विमान लीबिया के सभा शहर से राजधानी त्रिपोली जा रहा था।. अपहरणकर्ता उसे मोड़कर माल्टा ले गए.

Share With:
Rate This Article