राहुल ने शायराना अंदाज में PM पर कसा तंज, कहा- ‘तरस नहीं खाते बस्तियां जलाने में’

अल्मोड़ा (उत्तराखंड)

अल्मोड़ा में कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने रैली के दौरान कहा कि 8 नवंबर को पीएम नरेंद्र मोदी द्वारा लिए गए नोटबंदी के निर्णय से गरीब लोगों पर जबरदस्त चोट पड़ी है. अब तक नोटबंदी की वजह से 100 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है. उन लोगों को लोकसभा में याद करना चाहिए था.

राहुल गांधी ने कहा कि उन्होंने जो सवाल पीएम से पूछे उसका उन्हें कोई जवाब नहीं मिला. जहां गुरुवार को राहुल गांधी ने पीएम मोदी के रवैये पर तंज कसते हुए गालिब का शेर पढ़ा था. वहीं शुक्रवार को उन्होंने बशीर बद्र को याद करते हुए कहा कि ‘लोग टूट जाते हैं एक घर बनाने में, तुम तरस नहीं ख़ाते बस्तियां जलाने में..’

राहुल गांधी ने कहा, कांग्रेस पार्टी भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ाई में हमेशा साथ खड़ी रहती है. कांग्रेस पार्टी ने मोदी जी से सिर्फ तीन मांग की थी. कर्ज माफ, बिजली बिल हाफ और अनाज का सही दाम. मोदी ने लोगों से मनरेगा छीना. हिंदूस्तान के मजदूरों को कहा कि वे गड्ढे खोदते हैं. छत्तीसगढ़ और राजस्थान में आदिवासियों के खिलाफ युद्ध छेड़ रखा है.

कांग्रेस उपाध्यक्ष ने कहा, पीएम मोदी ने हिंदुस्तान को दो भागों में बांट रखा है. एक तरफ हिंदुस्तान के सुपर रीच 1 प्रतिशत लोग. दूसरी तरफ 99 फीसदी गरीब लोग हैं. पिछले ढाई साल में नरेंद्र मोदी सरकार ने 1 फीसदी लोगों को फायदा पहुंचाया है. ये वही लोग हैं जो आपके साथ ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड जाते हैं.

Share With:
Rate This Article