रक्षा मंत्री और आर्मी चीफ से मिले प्रवीण बख्शी, इस्तीफे की अटकलें तेज

दिल्ली

देश के नए सेना प्रमुख की दौड़ में वरिष्ठता के बावजूद दरकिनार किए गए सेना के पूर्वी कमान के कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल प्रवीण बक्शी ने रक्षामंत्री मनोहर पार्रिकर से मुलाकात की. पूर्वी कमान के प्रमुख की रक्षामंत्री से मंगलवार को हुई इस मुलाकात के बाद भी लेफ्टिनेंट जनरल बक्शी की भावी भूमिका पर रक्षा महकमे में अटकलों का दौर जारी है. इसमें बक्शी के इस्तीफा देने की चर्चाओं से लेकर उन्हें चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ बनाने की बात भी शामिल है.

लेफ्टिनेंट जनरल बिपिन रावत को नए सेनाध्यक्ष बनाने की घोषणा के साथ ही सेना में उनके दो वरिष्ठ बक्शी और दक्षिणी कमान के कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल पीएम हारिज के अगले कदमों को लेकर बेचैनी से प्रतीक्षा है. इस लिहाज से लेफ्टिनेंट जनरल बक्शी की रक्षामंत्री से यह मुलाकात बेहद अहम मानी जा रही है.

रावत को सेना प्रमुख नियुक्त करने की घोषणा के बाद रक्षामंत्री के साथ बक्शी की यह पहली मुलाकात थी. हालांकि इस मुलाकात के ब्यौरे को लेकर सेना और रक्षा महकमे की ओर से कुछ भी नहीं कहा गया. मगर मौजूदा सेना प्रमुख जनरल दलबीर सिंह के 31 दिसंबर को रिटायर होने के मद्देनजर रक्षामंत्री के साथ बक्शी की चर्चा उनके अगले कदम के लिहाज से महत्वपूर्ण है.

हालांकि रक्षा महकमे में बक्शी की वरिष्ठता का ख्याल रखने के लिए चीफ आफ डिफेंस स्टाफ का नया पद सृजित कर उन्हें इसकी जिम्मेदारी सौंपने की अटकलें भी जारी है. लेकिन सरकार ने अभी तक चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ का पद बनाने के अब तक कोई संकेत नहीं दिए हैं. इसलिए माना जा रहा है कि जनरल बक्शी से रक्षामंत्री की हुई मुलाकात के बाद सरकार का शीर्ष नेतृत्व नए पद के सृजन को लेकर कोई निर्णय ले सकता है.

Share With:
Rate This Article