धर्मशालाः सदन में जाने से निलंबित विधायक को रोका, विपक्ष ने किया हंगामा

धर्मशाला

हिमाचल प्रदेश विधानसभा के शीतकालीन सत्र के तीसरे दिन हंगामा करने के आरोप में निलबिंत किए भाजपा के तीन विधायकों ने आज सुबह विधानसभा में प्रवेश करना चाहा. लेकिन उन्हें पुलिस ने अंदर जाने से रोक दिया.

इसके बाद तीनों विधायक विधानसभा के मुख्य गेट के बाहर धरने पर बैठ गए. इन विधायकों को सदन में जाने से रोके जाने पर सदन के अंदर विपक्ष के अन्य विधायकों ने भी जमकर नारेबाजी की और कुछ देर बाद विपक्ष ने सदन का वॉकआउट कर दिया. सभी भाजपा विधायक नेता प्रतिपक्ष प्रेम कुमार धूमल के साथ बाहर आ गए.

धर्मशालाः सदन में जाने से निलंबित विधायक को रोका, विपक्ष ने किया हंगामा

धर्मशालाः सदन में जाने से निलंबित विधायक को रोका, विपक्ष ने किया हंगामा

भाजपा विधायक सुरेश भारद्वाज, रणधीर शर्मा व डॉ. राजीव बिंदल बुधवार को विधानसभा में हंगामा करने के आरोप में निलबिंत किया गया था. सुरेश भारद्वाज पर आरोप है कि वह सदन में विधानसभा के आसन में बैठ गए, जबकि रणधीर शर्मा व राजीव बिंदल ने आसन के समीप जाकर नारेबाजी की. इसके बाद कांग्रेस विधायकों की ओर से लाए गए अवमानना प्रस्ताव के ध्वनिमत से पारित होने के बाद तीनों विधायकों को इस सत्र तक निलबिंत कर दिया गया.

भाजपा विधायक सुरेश भारद्वाज ने कहा कि उन्होंने कोई नियमों का उल्लघंन नहीं किया है और न ही उन्हें निलबिंत करने का कोई नोटिस मिला है. ऐसे में उन्हें रोका नहीं जा सकता है. इन विधायकों को अंदर जाने से रोक दिए जाने के कारण विधानसभा सत्र में आज प्रश्नकाल शुरू होते ही विपक्ष ने तीनों विधायकों को विधानसभा में प्रवेश न देने पर नारेबाजी शुरू कर दी है.

Share With:
Rate This Article