वाहन चोरी मामले में फर्जी एफिडेविट बनाने वाला डॉक्यूमेंट राइटर गिरफ्तार

मंडी

चोरी की गाडिय़ों की बरामदगी मामले में पुलिस ने कोर्ट परिसर में कार्य करने वाले एक डॉक्यूमेंट राइटर को गिरफ्तार किया है. नंदलाल पुत्र रूप सिंह बल्ह के सिंहन गांव का रहने वाला बताया जा रहा है. आरोपी ने मंगत राम पुत्र जगत राम निवासी गोहर के नाम पर कार (एच.पी.32ए-3494) बेचने के दस्तावेज बनाए थे.

शपथ पत्र में मंगत राम की पहचान भी नंदलाल ने की थी जबकि जांच में इस बात का खुलासा हुआ है कि वाहन चोरी मामले में गिरफ्तार राजू ने मंगत राम बनकर शपथ पत्र व अन्य दस्तावेज बनवाए थे. इन्हीं दस्तावेजों के आधार पर आर.एल.ए. गोहर में चोरी की गाड़ी का पंजीकरण हुआ था. आरोपी को पुलिस रिमांड पर लेने के लिए बुधवार को कोर्ट में पेश किया जाएगा.

चोरी के वाहनों की फर्जी आर.सी. बनाकर मोटी रकम ऐंठने वाला आशीष चावला उर्फ विक्की अब भी पुलिस की पहुंच से बाहर है. चोरी के वाहनों का उसने कहां-कहां पंजीकरण करवाया है, इस बात का खुलासा उससे पूछताछ के बाद संभव हो पाएगा.

वाहन चोरी मामला सामने आने के बाद आशीष चावला भूमिगत बताया जा रहा है. एस.आई.टी. को पूछताछ में इस बात की जानकारी हाथ लगी है कि पुराने व चोरी के वाहनों की खदीद-फरोख्त से जुड़े लोग इसी के पास वाहनों के  पंजीकरण दस्तावेज बनवाने के लिए बिल आदि छोड़ते थे.

आशीष चावला भंगरोटू के एक कम्प्यूटर सैंटर में फर्जी आर.सी. तैयार करवाता था. आशीष चावला के परिजनों तक पुलिस पहुंच गई लेकिन उन्होंने बताया कि आशीष चंडीगढ़ गया हुआ है. एस.पी. प्रेम कुमार ने कोर्ट परिसर में कार्य करने वाले एक डॉक्यूमैंट राइटर की गिरफ्तारी की पुष्टि की है.

Share With:
Rate This Article