टांडा अस्‍पताल में असफल हुए आंखों के ऑपरेशन, 10 की रोशनी गई

धर्मशाला

हिमाचल प्रदेश के दूसरे सबसे बड़े अस्पताल डॉ राजेंद्र प्रसाद मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल टांडा में आंखों के ऑपरेशन असफल होने से 10 लोगों की आंखों की रोशनी जाने का मामला सामने आया है. टांडा अस्पताल में 14 दिसंबर को हुए आंखों के ऑपरेशन में सभी मरीजों की अभी तक रोशनी नहीं आ पाई है.

जानकारी अनुसार 13 दिसंबर को यहां 10 मरीज आंखों के ऑपरेशन करवाने के लिए भर्ती हुए थे. इनकार 14 दिसंबर को ऑपरेशन हुआ. 15 दिसंबर को अस्पताल से छुटी के समय दी गई दवाई आंखों में डालते ही पानी चलना आरंभ हो गया. जब फिर से यह सभी मरीज दोबारा अस्पताल में आए तो टांडा स्थित अस्पताल में डॉक्टरों के पास इस का कोई समाधान नहीं था.

फिर आनन-फानन में सभी मरीजों को अन्य अस्पतालों में रेफर कर दिया गया. इन मरीजों में तीन मरीजों का अभी मारंडा स्थित रोटरी अस्पताल में इलाज चल रहा है.
जबकि दो मरीजों को पीजीआई चंडीगढ़ रेफर किया गया है. इन मरीजों में खैराती लाल (नगरोटा सूरियां), त्रिलोक चंद, (कोठियां नगरोटा बगवां) व ईशा कुमारी (सोलदा कोटला) अभी मारंडा स्थित रोटरी अस्पताल में उपचाराधीन है. इस बारे अभी टांडा अस्पताल प्रशासन कुछ बोलने को तैयार नहीं है.

Share With:
Rate This Article