अखिलेश यादव ने 5 घंटे में 900 योजनाओं का किया शिलान्यास और लोकार्पण

लखनऊ

चुनाव जब सिर पर हो तो नेता नई योजानाओं का लोकार्पण और उद्घाटन करते ही हैं, लेकिन उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने मंगलवार को एक ऐसा रिकॉर्ड बना दिया, जिसे शायद ही कोई तोड़ पाए.

अखिलेश यादव ने एक दिन में 5 घंटे के भीतर करीब 60,000 करोड़ रुपये की 900 योजनाओं का शिलान्यास और लोकार्पण कर डाला. इसमें क्रिकेट स्टेडियम, कैंसर इंस्टिट्यूट, मल्टीप्लेक्स, लाइब्रेरी, ओलिम्पिक साइज स्विमिंग पूल, शान-ए-अवध सिग्नेचर बिल्डिंग और मंडी परिषद की बिल्डिंग सहित तमाम ऐसी योजनाएं हैं, जो अभी पूरी भी नहीं हुई हैं.

चुनाव आचार संहिता लागू होने के डर से योजनाओं के लोकार्पण और शिलान्यास की कैसी जल्दी है, इसका अंदाजा आप इस बात से लगा सकते हैं कि शिलान्यास के लिए जिन पत्थरों का अनावरण किया गया, उन पर नामों की खुदाई भी नहीं हो पाई थी. ग्रेनाइट के पत्थरों पर प्लास्टिक कि शीट चिपका कर काम चलाया गया.

लखनऊ की परियोजना के लोकार्पण के लिए मुख्यमंत्री अखिलेश यादव खुद पहुंचे, वहीं राज्य भर की बाकी परियोजनाओं के पत्थरों का अनावरण भी सीएम ने लखनऊ से ही कर दिया. इसके लिए लखनऊ में एक ही जगह पर चार सौ से ज्यादा पत्थर लगे थे, जहां मुख्यमंत्री ने कैंसर अस्पताल का लोकार्पण करने के साथ लगे हाथ इनका भी फीता काट दिया.

मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने जिन योजनाओं का लोकार्पण किया, उनमें कई योजनाएं ऐसी हैं, जो अभी आधी अधूरी हैं और जिनको पूरा होने में अभी काफी वक्त लगेगा. तो ऐसे में लोकार्पण की इस हड़बड़ी को लेकर अखिलेश की आलोचना भी हो रही है, लेकिन इसके बावजूद वह पिछले एक हफ्ते से ताबड़तोड़ लोकार्पण करने में लगे हैं. इसके पीछे उनका तर्क है कि अभी उनके कार्यकाल में चार महीने से ज्यादा बचा है और नई सरकार बनने से पहले उनमें से ज्यादातर योजनाएं पूरी हो जाएंगी.

Share With:
Rate This Article