क्या कहता है नवजोत सिद्धू का फेसबुक पेज ?

चंडीगढ़/अमृतसर

नवजोत सिंह सिद्धू पंजाब की सियायत में क्या भूमिका निभा सकते हैं ये तो सबको पता है. लेकिन, वो क्या करने वाले हैं, इसका पता सिर्फ सिद्धू को ही रहता है. लेकिन अब नवजोत सिंह सिद्धू ने धीरे-धीरे ही सही अपनी सियासी चाल साफ करनी शुरू कर दी है. कांग्रेस आलाकमान की ये इच्छा तो जगजाहिर हो चुकी है कि वो नवजोत सिंह सिद्धू को अमृतसर ईस्ट से चुनाव लड़वाना चाहती हैं. लेकिन खुद नवजोत सिंह सिद्धू क्या चाहते हैं. ये खामोशियां भी टूट रही हैं.

कांग्रेस के सूत्रों ने कहा था कि आलाकमान चाहता है कि सिद्धू अमृतसर ईस्ट सीट से विधानसभा चुनाव लड़ें, लेकिन सवाल भी था क्या नवजोत सिंह सिद्धू इसके लिए तैयार हैं? क्या सिद्धू हामी भरेंगे? सिद्धू ने सामने आकर तो कुछ भी नहीं कहा है लेकिन इशारों इशारों में सिद्धू ने जो कहा है वो उनकी फेसबुक के वॉलपेपर पर भी नजर आ रहा है. भले ही सिद्धू सामने न आए हों, लेकिन फेसबुक के जरिए उनका संदेश सामने आ गया है.

नवजोत सिद्धू के फेसबुक प्रोफाइल के कवर पेज पर जो तस्वीर लगी है और उसमें जो संदेश दिया गया है. वो उनके इरादे साफ कर रहा है.

फेसबुक कवर पेज पर उनकी पत्नी नवजोत कौर सिद्धू और उनकी तस्वीर के बीच में कांग्रेस का चुनाव चिन्ह हाथ का पंजा नजर आ रहा है. कवर पेज पर उनकी तस्वीरों के साथ पंजाब का नक्शा भी दिखाई दे रहा है. फेसबुक कवर पेज पर सोनिया गांधी, राहुल गांधी और प्रभारी आशा कुमारी की फोटो भी लगी है.

कवर पेज पर पंजाब कांग्रेस के अध्यक्ष कैप्टन अमरिंदर सिंह की बड़े साइज़ की फोटो भी मौजूद है. जो ये बता रही है कि सिद्धू कैप्टन को अपना नेता मान चुके हैं. लेकिन सबसे खास है वो संदेश जो सिद्धू की आने वाली योजनाओं का खुलासा कर रहा है. पंजाबी में लिखे इस संदेश में कहा गया है. हल्का पूर्वी के विकास के लिए वचनबद्ध.

सिद्धू के फेसबुक पेज की इस तस्वीर को हजारों लोगों ने लाइक और शेयर भी किया है. यानि अमृतसर ईस्ट की सीट जिसके बारे में कहा जा रहा था कि कांग्रेस आलाकमान चाहती है कि मिस्टर सिद्धू खुद इस सीट से चुनाव लड़ें. उसमें खुद नवजोत सिंह सिद्धू अपना इंटरेस्ट दिखा रहे हैं.

हालांकि अब तक सामने आकर सिद्धू ने कुछ भी नहीं कहा है. वहीं बीजेपी जिन्होंने नवजोत सिंह सिद्धू की सियासी पारी की शुरूआत कराई थी. उसके नेता ये ही कहते हैं कि जो हमारे नहीं हुए वो किसी के नहीं होंगे. उनके सियासी कदम से बीजेपी को कोई फर्क नहीं पड़ता.

कांग्रेस आलाकमान की चाहत और नवजोत सिद्धू के फेसबुक का कवर पेज. क्या ये दोनों एक ही बात कह रहे हैं. तो जनाब समझदारों के लिए इशारा काफी है आप इंतजार कीजिए पंजाब विधानसभा चुनाव के लिए कांग्रेस की अगली लिस्ट का. मिस्टर सिद्धू और कांग्रेस दोनों की आगे की रणनीति तभी सामने आएगी.

Share With:
Rate This Article