करुण नायर ने रचा इतिहास, करियर के तीसरे ही टेस्ट में जड़ा तिहरा शतक

चेन्नई

करुण नायर (नाबाद 303) के शानदार शतक की बदौलत भारत ने पांचवें टेस्ट के चौथे दिन सोमवार को अपनी पहली पारी सात विकेट के नुकसान पर 759 रन बनाकर घोषित कर दी. इसी के साथ भारत ने इंग्लैंड की पहली पारी के स्कोर 477 रनों पर 282 रनों की बढ़त ले ली है. इसके बाद ट्विटर पर पीएम मोदी करुण नायर को बधाई देते हुए लिखा- हम सभी को तुम्हारी उपलब्धि पर खुशी और गर्व है.

तीसरा टेस्ट मैच खेल रहे नायर का यह पहला टेस्ट शतक था और पहले शतक के तौर पर तीहरा शतक लगाने वाले वह पहले बल्लेबाज बन गए हैं.

यह भारत का टेस्ट क्रिकेट की किसी पारी में अब तक का सर्वोच्च स्कोर भी है. इससे पहले भारत का सर्वोच्च स्कोर 726 रन था, जो उसने श्रीलंक के खिलाफ 2009 में मुंबई के ब्रेबोर्न स्टेडियम में बनाए थे.

नायर भारत की तरफ से टेस्ट क्रिकेट में तीहरा शतक लगाने वाले विरेंद्र सहवाग के बाद दूसरे बल्लेबाज बन गए हैं. नायर ने इस मैच में वी. वी. एस. लक्ष्मण (281) को पीछे छोड़ दिया है. नायर का यह स्कोर भारत की तरफ से टेस्ट क्रिकेट में तीसरा व्यक्तिगत सर्वोच्च स्कोर है.

भारत ने अपने तीसरे दिन के स्कोर 391 रनों पर चार विकेट से आगे खेलने शुरू किया. भारत ने पहले सत्र में मुरली विजय (29) का एकमात्र विकेट गंवाया. मुरली पिछले दिन के स्कोर चार विकेट पर 291 रनों में 44 रन और जोड़ने के बाद 435 के कुल योग पर लियाम डॉसन की गेंद पर पगबाधा करार दिए गए. इसके बाद रविचन्द्रन अश्विन (67) ने नायर का साथ थामा और छठे विकेट के लिए 181 रनों की साझेदारी की.

इस साझेदारी को स्टुअर्ट ब्रॉड ने तोड़ा. इसके बाद रविंद्र जडेजा (51) ने नायर के साथ पारी को आगे बढ़ाया और सातवें विकेट के लिए 138 रनों की साझेदारी कर टीम को मजबूत स्थिति में पहुंचा दिया. जडेजा 754 के कुल स्कोर पर लियाम डॉसन का शिकार बने.

इंग्लैंड के लिए स्टुअर्ट ब्रॉड और डॉसन ने दो-दो विकेट लिए. उनके अलावा मोइन अली, आदिल रशीद, और बेन स्टोक्स ने एक-एक विकेट लिया है.

पांच मैचों की श्रृंखला का यह आखिरी टेस्ट है. भारत ने पहले ही श्रृंखला 3-0 से बढ़त ले रखी है.

Share With:
Rate This Article