मेरे पास पीएम के खिलाफ भष्टाचार के सबूत, इसलिए वो घबराए हुए हैं: राहुल गांधी

दिल्ली

नोटबंदी के मुद्दे पर एकजुट विपक्ष ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर सदन से भागने का आरोप लगाया और कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने आज दावा किया कि उनके पास प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के बारे में व्यक्तिगत भ्रष्टाचार की जानकारी है, जिसे वे सदन में रखना चाहते हैं, लेकिन उन्हें सदन में बोलने नहीं दिया जा रहा है.

राहुल गांधी ने संसद भवन परिसर में संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘हमारे पास नरेन्द्र मोदीजी के बारे में व्यक्तिगत सूचना है, जिसें मैं लोकसभा में रखना चाहता हूं, लेकिन मुझे बोलने नहीं दिया जा रहा है.’

जब उनसे बार-बार पूछा गया कि वह जानकारी क्या है तब कांग्रेस उपाध्यक्ष ने दावा किया, ‘हमारे पास प्रधानमंत्री के बारे में व्यक्तिगत भ्रष्टाचार की जानकारी है, जिसे हम संसद में रखना चाहते हैं. लेकिन मुझे लोकसभा में बोलने नहीं दिया जा रहा है.’ उन्होंने कहा कि ऐसा इसलिए हो रहा है क्योंकि प्रधानमंत्री इस बात से घबराये हुए हैं कि अगर मुझे बोलने दिया गया तो मेरे पास ऐसी सूचनाएं हैं कि उनका गुब्बारा फट जायेगा.

राहुल गांधी के साथ तृणमूल कांग्रेस के संदीप बंदोपाध्याय, कल्याण बनर्जी, माकपा के पी करूणाकरण, राकांपा के तारीक अनवर, आरएसपी के एन के प्रेमचंद्रन, एआईयूडीएफ के बदरूद्दीन अजमल आदि मौजूद थे. राहुल ने कहा कि प्रधानमंत्री का नोटबंदी का फैसला गरीबों पर आघात है. इसलिए प्रधानमंत्री की यह जवाबदेही है कि वे नोटबंदी के मुद्दे पर स्पष्टीकरण दें. वे देश के समक्ष स्पष्टीकरण दें. वे सदन में बोलें.

कांग्रेस उपाध्यक्ष ने कहा कि प्रधानमंत्री काफी घबराये हुए हैं और मुझे यह जानकारी है कि सदन में मुझे नहीं बोलने दिया जायेगा. उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री पॉप कंसर्ट में बोल रहे हैं, जनसभा में बोल रहे हैं लेकिन सदन में नहीं बोल रहे हैं. इतिहास में पहली बार सत्ता पक्ष के लोग चर्चा को रोक रहे हैं. आमतौर पर विपक्ष ऐसा करता रहा है और सत्ता पक्ष कामकाज चलाने का प्रयास करता है. प्रधानमंत्री बहाने बनाना छोड़कर सदन में आए और चर्चा हो. उल्लेखनीय है कि इससे पूर्व राहुल गांधी यह दावा कर चुके हैं कि अगर उन्हें नोटबंदी पर बोलने दिया जाता है तो भूकंप आ जायेगा.

Share With:
Rate This Article