हिमाचल में डॉक्टरों ने सरकारी नौकरी छोड़ी तो देने होंगे एक करोड़ रुपए

शिमला

राज्य में किसी भी डॉक्टर ने सरकारी नौकरी छोड़ी तो पांच या दस लाख रुपए देकर जान नहीं छूटेगी. विशेषज्ञ डॉक्टर को बॉन्ड के तहत 1 करोड़ रुपए की राशि सरकार को अदा करनी होगी. राज्य सरकार ने बांड की राशि में 10 गुना बढ़ोतरी कर दी है. पहले जहां दस लाख रुपए की राशि अदा करनी होती थी, वहीं अब यह राशि एक करोड़ की होगी. वहीं एमबीबीएस डॉक्टरों के लिए यह राशि 50 लाख रुपए तय की है.

सेहत विभाग में इसका पूरा खाका तैयार किया है. विभाग ने इसे एचआर पॉलिसी का नाम दिया है. इसे मंजूरी के लिए राज्य मंत्रिमंडल की बैठक में रखा जाएगा. लेकिन इससे पहले सरकार डीएमई और सभी प्रिंसिपलों से जरूरी बैठक कर इस बारे विचार करेगी.

सरकार ने प्रदेश में चल रही डॉक्टरों की कमी को देखते हुए बॉण्ड मनी को बढ़ाने का निर्णय लिया है. यह अभी पांच लाख और 10 लाख रुपए तय की गई है. इसे सरकार अब बढ़ाने जा रही है. सरकार पहले भी दो बार यह मामला मंजूरी के लिए मंत्रिमंडल की बैठक में मंजूरी के लिए ला चुकी है. लेकिन कैबिनेट से स्वीकृति मिलने पर सेहत विभाग दोबारा से मामले को संशोधित कर मंत्रिमंडल की बैठक में पेश करेगी.

Share With:
Rate This Article