रिजिजू पर लगा घोटाले का आरोप, बोले- न्‍यूज प्‍लांट करने वालों को जूते पड़ेंगे

दिल्ली

केंद्रीय मंत्री किरण रिजिजू पर लगे कथित भ्रष्टाचार के आरोप को कांग्रेस पार्टी भुनाने में लग गई है. कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस कर मोदी सरकार पर हमला बोला है. सुरजेवाला ने कहा है कि चुनाव से पहले पीएम मोदी ने नारा दिया था कि न खाएंगे और न खाने देंगे, लेकिन सरकार बनाने के बाद उन्होंने नारा बदलकर ‘खाओ-पियो’ कर दिया है.

कांग्रेस की ये प्रेंस कॉन्फ्रेंस केंद्रीय गृह राज्य मंत्री किरण रिजिजू पर लगे कथित भ्रष्टाचार के आरोपों का जवाब देने के लिए थी. इस दौरान सुरजेवाला ने कहा कि इस मामले में किरण रिजिजू की भूमिका संदेह के घेरे में है और जब तक जांच पूरी नहीं हो जाती, तब तक के लिए उनको इस्तीफा दे देना चाहिए.

सुरजेवाला यहीं नहीं रुके उन्होंने रिजिजू के खिलाफ एक ऑडियो क्लिप सबूत के तौर पर पेश किया. उनका दावा है कि इस ऑडियो क्लिप में कांग्रेस के पास रिजिजू के खिलाफ सबूत हैं. कांग्रेस ने इस ऑडियो क्लिप को जारी कर उन पर अरुणाचल के हाइड्रो प्रोजेक्ट में कथित घोटाले में शामिल होने के आरोप लगाए हैं.

इससे पहले किरण रिजिजू मामले पर सफाई देते हुए ये कह चुके हैं इस तरह की खबरें प्लांट करने वाले यहां आएंगे तो जूते खाएंगे. और इस तरह से उन्होंने सभी आरोपों को नकार दिया.

जानकारी के लिए बता दें कि एक अंग्रेजी अखबार ने मंगलवार (13 दिसंबर) को खबर की थी कि अरुणचाल के दो बांधों के निर्माण से जुड़ी मुख्य सतर्कता अधिकारी (सीवीओ) की रिपोर्ट में केंद्रीय मंत्री का भी नाम है. सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनियों (पीएसयू) के सीवीओ सतीश वर्मा की रिपोर्ट के अनुसार अरुणचाल प्रदेश में 600 मेगावाट के कामेंग पनबिजली परियोजना के तहत दो बांधों के निर्माण में भ्रष्टाचार हुआ है.

किरण रिजिजू के चचेरे भाई गोबोई रिजिजू इस परियोजना में सब-कॉन्ट्रेक्टर हैं. सीबीआइ ने दो बार औचक निरीक्षण किया है, लेकिन अभी तक इस मामले में कोई एफआईआर नहीं दर्ज की गई है. सीवीओ द्वारा भ्रष्टाचार की आशंका जताए जाने के बाद बांध के ठेकेदार का बकाया भुगतान रोक दिया गया था, जिसके बाद किरेन रिजिजू ने केंद्रीय विद्युत मंत्रालय को बकाया भुगतान के बाबत पत्र लिखा था. इसके बाद से रिजिजू पर 450 करोड़ का घोटाला करने का आरोप लगा है.

Share With:
Rate This Article