PM मोदी ने 500 बैंकों में कराया स्टिंग, वित्त मंत्रालय पहुंची 400 सीडी

दिल्ली

‘जुगाड़बाज’ बैंक अधिकारियों को चेतावनी देने के बाद अब प्रधानमंत्री नरेंद्र ने बैंक में हो रही गड़बड़ियों से निपटने के लिए बड़ा कदम उठाया है. सूत्रों के मुताबिक बैंकों में हो रहे घालमेल की खबरों के बाद मोदी ने देश की करीब 500 बैंक शाखाओं में स्टिंग ऑपरेशन करवाया है.

सूत्रों के मुताबिक वित्त मंत्रालय में स्टिंग ऑपरेशन की करीब 400 सीडी पहुंच भी चुकी हैं. इन बैंकों में निजी और सरकारी दोनों बैंक की शाखाएं शामिल हैं.

सूत्रों के मुताबिक सीडी में बैंक कर्मियों, दलालों, जालसाजों की मिलीभगत से पुराने नोटों को नए नोटों से बदलने के सबूत हैं. खुफिया सूत्रों के अनुसार अगर बैंकों में गड़बड़ी नहीं होती तो लोगों को कैश के लिए इतनी दिक्कत नहीं उठानी पड़ती. सरकार अब ऐसे बैंकों के अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई का भी मन बना रही है जो इस तरह के घपले में शामिल हैं. गौरतलब है कि देश के कई बैंकों में कालेधन को सफेद करने की खबरें सामने आईं थी.

स्टिंग में मेट्रो शहरों के अलावा छोटे शहरों के बैंकों की शाखाएं भी शामिल हैं. 8 नवंबर को पीएम मोदी की नोटबंदी की घोषणा के बाद से 500 और 1000 रुपये के पुराने नोटों पर सरकार ने रोक लगा दी थी.

देश की अर्थव्यवस्था में 86 फीसदी 500 और 1000 रुपये के नोट थे. हाल के अपने कई भाषणों में पीएम मोदी ने जनता से 30 दिसंबर तक नोटबंदी से हो रहे कष्ट को सहने की अपील की है. सरकार सुप्रीम कोर्ट में भी अगले 15 दिनों में हालात सुधरने की बात कह चुकी है. ऐसे में सरकार कालाबाजारियों से निपटने के लिए पूरी तैयारी के साथ कार्रवाई कर रही है.

सरकार ने पूरे देश में ब्लैक मनी को सफेद करने वाले लोगों और बैंकों पर शिकंजा कसना शुरू भी कर दिया है. प्रवर्तन निदेशालय यानी ईडी ने पुरानी दिल्ली के कश्मीरी गेट स्थित ऐक्सिस बैंक शाखा में काम करने वाले 2 मैनेजर- शोभित सिन्हा और विनीत गुप्ता को PML (प्रिवेंशन ऑफ मनी लॉन्ड्रिंग) के तहत गिरफ्तार किया है.

ईडी के सूत्रों ने दावा किया कि दोनों आरोपियों ने कई खुलासे किए हैं. उन्होंने माना कि वे राजीव सिंह नाम के शख्स के कहने पर काले धन को सफेद कर रहे थे. ईडी के मुताबिक, राजीव सिंह टैक्स कंसल्टेंट है, जो लक्ष्मी नगर में ऑफिस चलाता है. वह टैक्स कंसल्टेंसी की आड़ में हवाला कारोबार करता है, जिसने पांच शेल कंपनियां रजिस्टर कराई हुई हैं. फिलहाल राजीव ईडी की गिरफ्त से बाहर है. उसकी तलाश की जा रही है. आरोप है कि उसने कई बड़े व्यापारियों के काले धन को सोने के रूप में सफेद किया है.

Share With:
Rate This Article