CM साबित करें मैं सार्वजनिक तौर पर मांगूंगा माफी: महेश्वर सिंह

कुल्लू

भगवान रघुनाथ के मुख्य छड़ीबरदार व कुल्लू सदर से विधायक महेश्वर सिंह ने कहा कि CM वीरभद्र सिंह सिद्ध करें कि उनका कौन पूर्वज शांघड़ आया था. यदि वह यह सिद्ध कर देते हैं तो मैं सार्वजनिक तौर माफी मांगूंगा और अपने शब्द वापस लूंगा. इतिहास को मत बदलें. कहा कि CM वीरभद्र सिंह मुझे राजा नहीं, रॉय कहते हैं और घटिया समझते हैं.

उन्होंने शांघड़ स्थित आसन रॉय री थड़ पर सीएम के बैठने का स्वागत किया है. कुल्लू के परिधि गृह में पत्रकारों से बातचीत में महेश्वर सिंह ने कहा कि पूर्व में मुझे भी रॉय री थड़ में बैठाया जा चुका है. अब इसे बुशैहर के राजा का आसन बताया जा रहा है. कुछ लोग या तो निजी स्वार्थ सिद्ध करने के लिए गुमराह कर रहे हैं या फिर मुख्यमंत्री पूर्वज के शांघड़ आने के बारे में बताएं.

CM अपनी कुर्सीनामा देख लें. कहा कि देवसंस्कृति को राजनीति में लाने पर खत्म हो जाऊंगा. जब भी CM कुल्लू दौरे पर आते हैं तो विवादास्पद काम कर जाते हैं. संभवत: बाद में उन्हें पता चलता है कि वह क्या कर गए. न्यायालय के अधीन मामले में CM बार-बार टिप्पणी कर रहे हैं.

वह अवमानना का केस करने के लिए मजबूर कर रहे हैं. नियमों को ताक पर रखकर CM माता भीमाकाली मंदिर के चेयरमैन बने हैं और उत्तराधिकारी के लिए भी अधिकार संरक्षित किए हैं. उन्होंने स्थानीय वरिष्ठ कांग्रेसी पर चुटकी लेते हुए कहा कि विधायक प्राथमिकता के तहत हम अपग्रेडेशन लेकर आ रहे हैं और सुपर लोग भूमि पूजन के नाम पर गटका पूजन कर रहे हैं.

कहा कि कुल्लू शहर के समीप बने एक मंदिर की बिजली काटना दुर्भाग्यपूर्ण है. दोहरी नीति नहीं अपनानी चाहिए. कुल्लू विधानसभा क्षेत्र में हाल ही में हुए उद्घाटन पर महेश्वर सिंह ने कहा कि वीरभद्र सिंह फट्टे वाले CM हैं. उन्हें रिमोट से ही उद्घाटन कर देने चाहिए क्योंकि मौके पर लोग ही नहीं पहुंचते हैं.

विधायक ने CM के मकरझंडू शब्द पर चुटकी लेते हुए कहा कि CM को मकरझंडू कहीं का नहीं छोड़ेंगे. कुल्लू दौरे के दौरान CM अप्रत्यक्ष तौर पर कांग्रेसियों के लिए मकरझंडू शब्द का इस्तेमाल कर चुके हैं. जिस पर चर्चाओं का बाजार गर्म है.

Share With:
Rate This Article