खराब मौसम से अंडमान में फंसे 1400 पर्यटकों को बचाने के काम में बाधा

भारी बारिश और तूफान की वजह से अंडमान एवं निकोबार के हैवलॉक और नील द्वीपों पर अब भी 1400 से ज्यादा टूरिस्ट फंसे हुए हैं. इस बीच गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा है कि सभी पर्यटक सुरक्षित हैं. भारतीय नौसेना ने उनको बचाने के लिए अभियान चलाया है, लेकिन खराब मौसम की वजह से बचाव अभियान में बाधा आ रही है. फंसे लोगों में 800 से ज्यादा पश्च‍िम बंगाल के हैं.

गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने अंडमान एवं निकोबार द्वीप समूह के उपराज्यपाल डॉ. जगदीश मुखी से बात की और हालात का जायजा लिया. गृह मंत्री ने मंत्रालय के अधिकारियों को हालात पर गहराई से नजर रखने के निर्देश दिए हैं. उन्होंने ट्वीट कर बताया, ‘सरकार ने पर्यटकों को सुरक्षित बाहर निकालने की सभी तैयारियां कर ली हैं.
राहत एवं बचाव दल अंडमान पहुंच गए हैं.’ केंद्रीय पर्यटन मंत्री महेश शर्मा ने भी टूरिस्ट की सुरक्षा और बचाव का पूरा भरोसा दिया है. अंडमान-निकोबार के नील और हैवलॉक द्वीप पर भारी बारिश और तूफान की वजह से बुधवार से ही काफी पर्यटक फंस हुए हैं.
भारतीय नौसेना इन सभी को बचाने के लिए अभियान चलाया है, नौसेना ने इन पर्यटकों को बचाने के लिए अपने तीन जहाज रवाना किए थे. गुरुवार को भी मौसम खराब है और 30 किमी प्रति घंटे से भी ज्यादा गति की हवाएं चल रही हैं. नौसेना के जहाज तो हैवलॉक द्वीप तक पहुंच गए हैं, लेकिन खराब मौसम की वजह से 24 घंटे के बाद भी वे राहत एवं बचाव अभियान शुरू नहीं कर पाए.

Share With:
Rate This Article