CM वीरभद्र सिंह ने कहा- स्कूलों में बच्चों से छुआछूत पर निष्कासित होंगे कर्मचारी

कुल्लू

सरकारी स्कूलों में मिड डे मील का खाना परोसने के दौरान छुआछूत और भेदभाव पर मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह ने सख्ती दिखाई है. उन्होंने दो टूक चेतावनी देते हुए कहा है कि ऐसे मामलों में कर्मचारियों को निष्कासित कर दिया जाएगा. CM ने कहा कि सभी स्कूलों में बच्चों को रोलनंबर के हिसाब से बैठाकर मिड डे मील परोसा जाए.

बृहस्पतिवार को कुल्लू के कला केंद्र में हिमाचल कोली समाज के राज्य स्तरीय महासम्मेलन में सीएम ने कहा कि आने वाली पीढ़ी के साथ छुआछूत शब्द इतिहास के पन्नों में बंद हो जाएगा. फोरलेन मुआवजे को लेकर CM ने कहा कि वह चाहते हैं कि प्रभावितों को अधिक से अधिक मुआवजा मिले. उन्होंने कहा कि इसके लिए फोरलेन प्रभावितों को बातचीत के लिए भी बुलाया जाएगा.

पत्रकारों से बातचीत में CM ने कहा कि कांग्रेस जिला अध्यक्षों को पद से हटाने से पहले उन्हें सूचित करना तक मुनासिब नहीं समझा गया. CM ने कहा कि कांग्रेस डेमोक्रेटिक पार्टी है और इसका संविधान भी है. संविधान के अनुसार बीसीसी को नए प्रधान का चयन करने का अधिकार है. जबरदस्ती प्रधान थोपे नहीं जा सकते हैं.

भगवान रघुनाथ के मुख्य छड़ीबरदार महेश्वर सिंह का नाम लिए बिना सीएम ने उन पर खूब हमला बोला. अफसोस जताया कि कुछ लोगों ने हलफिया बयान में खुद को रघुनाथ मंदिर का मालिक बताया है. CM ने कहा कि मंदिर कोई दुकान, रेस्तरां या कपड़े की दुकान नहीं है। सोच व चलन में सुधार से ही समाज में सुधार होता है. खुद को मालिक बताने वालों को पाप लगेगा और नर्क में जाना पड़ेगा.

Share With:
Rate This Article