कैप्टन अमरिंदर सिंह के बेटे रणइंद्र से ई.डी. अधिकारियों ने 4 घंटे की पूछताछ

जालंधर

पूर्व मुख्यमंत्री और पंजाब प्रदेश कांग्रेस पार्टी के प्रधान कैप्टन अमरिंदर सिंह के बेटे रणइंद्र सिंह आज दोपहर गुपचुप ढंग से ई.डी. दफ्तर पहुंचे. ई.डी. अधिकारियों ने रणइंद्र सिंह से करीब 4 घंटे तक पूछताछ कर स्टेटमेंट रिकार्ड की. पता चला है कि रणइंद्र सिंह से उसकी कम्पनीका की डिटेल, प्रापर्टी संबंधी दस्तावेज मांगे गए हैं.

उल्लेखनीय है कि मार्च माह में इंकम टैक्स विभाग द्वारा मार्च 2016 में लुधियाना की अदालत में रणइंद्र सिंह के खिलाफ पटीशन दायर की थी. आई.टी. विभाग की कार्रवाई के बाद ई.डी. द्वारा मामले की जांच शुरू की. ई.डी. के ज्वाइंट डायरेक्टर गिरीश बाली के नेतृत्व में जांच अधिकारी असिस्टेंट डायरेक्टर अजॉय सिंह ने रणइंद्र सिंह को सम्मन भेजे.

पहले रणइंद्र सिंह 21 जुलाई को ई.डी. अधिकारी के समक्ष पेश हुए. पता चला है कि दोबारा सम्मन भेजे जाने पर आज दोपहर करीब 2.45 बजे रणइंद्र सिंह अकेले ही गुपचुप ढंग से ई.डी. दफ्तर पहुंचे. अपनी गाड़ी ई.डी. दफ्तर के थोड़ा दूर पार्क करने के पश्चात रणइंद्र सिंह बेसमैंट के कारिए ई.डी. दफ्तर में पहुंचे.

करीब 3 से लेकर 7 बजे तक असिस्टेंट डायरेक्टर अजॉय सिंह द्वारा रणइन्द्र सिंह से पूछताछ की गई. सूत्रों ने बताया कि रणइंद्र सिंह से यू.के. के जकार्ता ट्रस्ट में शेयर होल्डर या हिस्सेदारी संबंधी सवाल पूछे गए. 4 घंटे की पूछताछ के दौरान पिछली पेशी पर जांच अधिकारी द्वारा जकार्ता ट्रस्ट से संबंधित, विभिन्न कम्पनीका तथा अकाऊंट स्टेटमेंट मांगी गई. सूत्रों के मुताबिक कुछ दस्तावेज रणइंद्र सिंह द्वारा जांच अधिकारी को दिए गए हैं.

Share With:
Rate This Article