नोटबंदी से रियल एस्टेट कारोबार को झटका, फ्लैटों की कीमत 30% तक गिरी

दिल्ली

नोटबंदी से रियल एस्टेट कारोबार को तगड़ा झटका लगा है. बिल्डरों ने फ्लैटों की कीमत 30 फीसदी तक कम कर दी है, बावजूद खरीदार नहीं मिल रहे हैं. कच्ची कॉलोनियों में मौजूद बिल्डर फ्लैटों की कीमतों में ज्यादा गिरावट हुई है. उत्तर दिल्ली के रानीबाग, शास्त्रीनगर, हरी नगर जैसे इलाकों में फ्लैट 30 फीसदी तक सस्ते, जबकि रोहिणी-द्वारका में यह गिरावट 15-20 प्रतिशत के आसपास है.

नोटबंदी से घटी कीमत : रोहिणी में घर खरीद रहे एक ग्राहक ने बताया कि 8 नवंबर से पहले दो बेडरूम वाले फ्लैट की कीमत 55 लाख रुपये थी. मगर अब बिल्डर वही फ्लैट 5-7 लाख रुपये कम कीमत पर भी देने को तैयार है. रोहिणी के सेक्टर-22, 23, 24 और 25 में काफी संख्या में बिल्डर फ्लैट मौजूद हैं.

बिल्डर राजेश नारंग कहते हैं कि नोटबंदी से फर्क पड़ा है. फ्लैटों की बिक्री नहीं हो रही है, क्योंकि लोगों के पास कैश नहीं है. लोग इंतजार के मूड में हैं. इससे बिल्डरों को थोड़ा नुकसान जरूर होगा, लेकिन यह स्थिति कुछ समय के लिए है. आगे चीजें सही हो जाएगी. प्रॉपर्टी विशेषज्ञ सोनिका खुराना के मुताबिक, यह रियल एस्टेट के लिए सुधार का समय है.

इंडिया जेड हाउसिंग डॉटकॉम के प्रमुख और प्रॉपर्टी विशेष प्रदीप मिश्र के अनुसार, कम आकलन दिखाकर प्रॉपर्टी को पुराने नोटों से न खरीदें. इस पर सरकार की नजर है. लोग थोड़े इंतजार के बाद घर खरीदें.

अब रेरा और नोटबंदी के बाद रियल एस्टेट के नियमित होने की संभावना बढ़ गई है. आने वाले दिनों में सस्ते और बजट घर बनने की उम्मीद है. ऐसे में आने वाले 3 से 6 महीने काफी अहम हैं. नोटबंदी की स्थितियां भविष्य के लिए अच्छी होंगी.

Share With:
Rate This Article