क्यूबा में फिदेल कास्त्रो का अंतिम संस्कार, देश ने नये दौर में किया प्रवेश

सैंटियागो डे क्यूबा

क्यूबा में रविवार को फिदेल कास्त्रो का अंतिम संस्कार होने के साथ इस देश में एक नये युग की शुरआत हुई है जहां इस कम्युनिस्ट नेता ने दशकों तक शासन किया था. पूर्वी शहर सैंटियागो डे क्यूबा के सांता इफिगेनिया कब्रिस्तान में उनकी अस्थि-कलश को रखा गया.

सप्ताह भर चले श्रद्धांजलि के दौर के बाद सादे समारोह में अंतिम संस्कार किया गया. सांता इफिगेनिया कब्रिस्तान में उनके अंतिम संस्कार स्थल पर गहरे हरे रंग का संगमरमर लगाया गया जिसमें उनका पहला नाम लिखा है ‘फिदेल.’ राउल कास्त्रो ने निजी समारोह में उन्हें सैन्य सम्मान दिया जहां उनके परिवार के सदस्य तथा विदेशी अतिथि मौजूद थे.

करीब 90 वर्ष की आयु में 25 नवंबर को क्यूबा के इस क्रांतिकारी नेता का निधन हो गया था. फिदेल के अवशेष को 19वीं सदी के स्वतंत्रता संग्राम के नायक जोस मार्ती के मकबरे के पास दफनाया गया. राउल कास्त्रो ने कल रात सैंटियागो के रिवोल्यूशन प्लाजा में अपने भाई के सम्मान में आयोजित अंतिम विशाल रैली की अगुवाई की और समाजवादी विचार को जारी रखने का संकल्प जताया.

राउल ने कहा, ‘फिदेल की अस्थियों के समक्ष, हम अपनी पैतृक भूमि और समाजवाद के संरक्षण का संकल्प लेते हैं.’ उन्होंने कहा, ‘उन्होंने (फिदेल ने) दिखाया कि हम किसी भी बाधा, खतरे और क्यूबा में समाजवाद को कायम करने के अपने दृढ़ संकल्प के रास्ते में आने वाली किसी तरह की दिक्कत को पार पा सकते थे, पार पा सकते हैं और पार पा सकेंगे.’

Share With:
Rate This Article