बोल्ट ने कहा- मेरी रफ्तार पड़ी धीमी, नहीं बची पैरों में जान

मोनाको

दुनिया के सबसे तेज इंसान कहे जाने वाले उसेन बोल्ट को एक खिलाड़ी से बड़ी चुनौती मिली है. बोल्ट को चुनौती देने वाले खिलाड़ी किसी मायने में उनसे कम नहीं हैं. उन्हें यह चुनौती देने वाले खिलाड़ी हैं जर्मनी के फुटबॉलर पियरे एमरिक ऑबमेयांग.

पियरे को फुटबॉल की दुनिया का सबसे तेज खिलाड़ियों में से एक माना जाता है. उन्होंने बोल्ट को 30 मीटर की रेस में अपने साथ दौड़ने की चुनौती दी है. 27 साल के इस फुटबॉलर ने मैदान में 30 मीटर की दौड़ केवल 3.7 सेकेंड में पूरी की है.

अगर इस तेजी की तुलना बोल्ट की 2009 में 100 मीटर का विश्व रिकॉर्ड बनाने वाली रेस से की जाए तो पियरे ही बोल्ट से आगे रहेंगे. इस रेस में बोल्ट ने 30 मीटर की दूरी तय करने में उनसे ज्यादा समय लिया था. शायद यही वजह है कि पियरे ने एक इंटरव्यू में बोल्ट को अपने साथ दौड़ने की चुनौती दे डाली. उन्होंने सीएनएन को दिए इंटरव्यू में कहा, ‘मैं तुम्हारा इंतजार कर रहा हूं. उम्मीद है एक दिन हम साथ दौड़ेंगे.’

हालांकि, कहा जा रहा है कि बोल्ट ने उनकी इस चुनौती को हवा में उड़ा दिया है. बोल्ट ने कहा है, ‘लोग मुझे चुनौती देते रहते हैं. मैं बोल्ट हूं. पियरे जानते हैं कि वह मुझसे नहीं जीत सकते.’ हो सकता है कि आने वाले दिनों में दोनों के बीच रेस देखने को मिले जब बोल्ट डॉर्टमंड फुटबॉल क्लब के साथ प्रैक्टिस करने जाएंगे. खैर, यह रेस हुई तो दर्शकों को खूब मजा आएगा.

Share With:
Rate This Article