जाली करंसी मामला में तीनों आरोपियों को 2 दिन की पुलिस रिमांड पर भेजा

मोहाली

मोहाली में कालेधन को 30 प्रतिशत कमीशन पर सफेद करने और 42 लाख की जाली करंसी के साथ पकड़े गए. अभिषेक, उसकी बहन और लुधियाना के प्रॉपर्टी डीलर सुमन नागपाल को कोर्ट में पेश किया गया.

जहां से तीनों को 2 दिन की पुलिस रिमांड पर भेज दिया. रिमांड के दौरान पुलिस आरोपियों से उनके साथियों के बारे में जानने की कोशिश करेगी. गौरतलब है कि मोहाली पुलिस ने 3 लोगों को एक लालबत्ती लगी ऑडी कार से 42 लाख के 2 हजार के नोटों की जाली करंसी के साथ किया था. ये लोग मोहाली से जगतपुरा में जाली करंसी को डिलीवरी देने जा रहे थे.

पुलिस के अनुसार उन्हें कई दिनों से इस बात की सूचना मिल रही थी कि कोई लडक़ा-लडक़ी लग्जरी गाड़ी में ब्लैक मनी को व्हाइट करने का काम कर रहे हैं. लग्जरी गाड़ी और उसके ऊपर लालबत्ती देख पुलिस वाले भी उनकी तलाशी लेने या उन पर किसी तरह का शक करने से हिचकते थे.

21 साल के आरोपी अभिनव के पिता हरियाणा गवर्नमेंट में अच्छे पद पर थे, लेकिन पिछले साल ही उनकी मौत हो गई जबकि अभिनव की मां लेफ्टिनेंट कर्नल हैं. उसके साथ गिरफ्तार हुई मामा की बेटी विशाखा ने भी बीटेक की हुई है. 20 वर्षीय विशाखा कूपरथला में रहती है. बता दें कि जाली नोट कांड का मास्टरमाइंड अभिनव पीएम नरेंद्र मोदी के ‘मेक इन इंडिया’ प्रोजेक्ट का हिस्सा बनने वालों की लिस्ट में है.

Share With:
Rate This Article