राष्ट्रपति से मिला हरियाणा सर्वदलीय प्रतिनिधिमंडल, सीएम बोले- SYL के पानी पर हरियाणा का भी हक

दिल्ली

एसवाईएल पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद से पंजाब और हरियाणा के बीच उठे सियासी घमासान में अब तक ठहराव नहीं आ सका है. जहां, एक तरफ पंजाब किसी भी राज्यों को पानी ना देने पर अड़ा है. वहीं, हरियाणा सुप्रीम कोर्ट के फैसले और संविधान का हवाला देकर किसी कीमत पर पानी हासिल करना चाहता है. इसी कड़ी में सोमवार को सीएम मनोहर लाल की अगुवाई में हरियाणा के सर्वदलीय प्रतिनिधिमंडल ने राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी से मुलाकात की.

मुलाकात के बाद पत्रकारों से बातचीत के दौरान सीएम मनोहर लाल ने कहा, एसवाईएल के पानी पर हरियाणा का भी हक है, हमें एसवाईएल का पानी मिलना चाहिए. इस मामले पर हरियाणा के सभी दल एकमत हैं. सुप्रीम कोर्ट के फैसले का हवाला देते हुए उन्होंने कहा कि सर्वोच्च न्यायलय का फैसला सर्वोपरि है, इसलिए पंजाब को हमें पानी देना ही होगा.

हरियाणा में नेता विपक्ष अभय चौटाला ने भी हरियाणा सरकार का समर्थन करते हुए कहा कि राज्य के हित के लिए हम सरकार के हर फैसले के साथ खड़े हैं. उन्होंने कहा, जल्द से जल्द नहर की खुदाई का काम शुरू होना चाहिए, जिससे हरियाणा के किसानों को जल्द से जल्द पानी मिल सके.

इसके बाद अभय चौटाला ने हरियाणा सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि एक तो सरकार एसवाईएल पर पंजाब के खिलाफ लड़ाई लड़ रही है और दूसरी ओर हरियाणा बीजेपी के नेता-मंत्री पंजाब में जाकर उनके लिए चुनाव प्रचार कर रहे हैं.

सर्वदलीय प्रतिनिधिमंडल में सीएम मनोहर लाल के अलावा, कैबिनेट मंत्री कैप्टन अभिमन्यु, अनिल विज, रामबिलास शर्मा, ओपी धनखड़, कृष्ण लाल पंवार, नायब सैनी, कविता जैन, नेता प्रतिपक्ष अभय चौटाला सहित कई दलों के नेता शामिल हुए.

Share With:
Rate This Article