धर्मशालाः प्राइवेट स्कूल के प्रबंधन ने अनुशासन के नाम पर 30 स्टूडेंट्स के काटे बाल, मचा बबाल

धर्मशालाः प्राइवेट स्कूल के प्रबंधन ने अनुशासन के नाम पर 30 स्टूडेंट्स के काटे बाल, मचा बबाल

धर्मशाला

हिमाचल के कांगड़ा में एक प्राइवेट की स्कूल की मनमानी के खिलाफ पैरेंट्स ने शनिवार को प्रदर्शन किया. दरअसल, जिला कांगड़ा के नूरपुर के राजा का बाग स्थित मोंटेसरी कैम्ब्रिज स्कूल के अध्यापकों ने असेंबली सैशन में 30 छात्रों के बाल काट दिए.

इसके बाद नाराज पैरेंट्स ने स्कूल प्रबंधन के खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज करवाई है. पैरेट्स का आरोप है कि स्टूडेंट्स ने घर आ कर बताया कि वे स्कूल टीचर से अनुरोध करते रहे कि किसी नाई को बुला कर उनके बाल कटवा दें. लेकिन टीचरों ने उनकी बात को अनसुना कर जोर जबरदस्ती बाल काट दिए.

टीचर उन्हें रोज कहती थी कि आप स्कूल में पढ़ने नहीं, बल्कि फैशन करने आते हैं. इसीलिए अनुशासन बनाए रखने के लिए बाल काट रही हूं. वहीं, हंगामा होने के बाद स्कूल प्रबंधन ने दलील दी है कि अनुशासन बनाए रखने के लिए कुछ स्टूडेंट्स के बाल ट्रिम किए गए थे, न की काटे गए थे.

स्कूल प्रबंधन का कहना है कि स्टूडेंट्स अलग-अलग हेयर स्टाइल बना कर स्कूल आ रहे थे, जिसके चलते स्कूल का अनुशासन भंग हो रहा था. इसी के कारण स्कूल प्रबंधन ने सभी स्टूडेंट्स को अनुशासन का पाठ पढ़ाते हुए सुबह असेंबली सैशन के दौरान स्कूल में ही 30 स्टूडेंट्स के सामूहिक तौर पर बाल कटवा दिए.
उधर, शिकायत मिलने के बाद डीएसपी नूरपर नवदीप ठाकुर ने राजा का बाग स्थित मोंटेसरी कैम्ब्रिज स्कूल पहुंच कर प्रदर्शन कर रहे पैरेंट्स की शिकायत पर मामले की जांच के लिए विशेष पुलिस टीम गठित कर दी है.

पुलिस पूछताछ में स्कूल की प्रिंसिपल ने माना कि उनसे अनुशासन के नाम पर गलती हो गई है. स्टूडेंट्स के बाल काटने जैसी कोई घटना स्कूल में घटित नहीं हुई है. सिर्फ डिसीप्लेन बनाए रखने के लिए कुछ स्टूडेंट्स के बाल ट्रिक किए गए थे. इन स्टूडेंट्स की वजह से स्कूल में इनडिसीप्लेन क्रेट हो रहा था. पुलिस जांच कर रही है. जांच में हम सहयोग कर रहे हैं. मिसेज संदीप महाजन, प्रबंधक मोंटेसरी कैम्ब्रिज स्कूल, राजा का बाग नूरपुर.

स्कूल प्रबंधन ने स्टूडेंट्स के हाथ-बांध पीछे बांध कर बाल काटे हैं. यह बर्बरता है कि पुलिस प्रशासन को स्कूल प्रबंधन के खिलाफ सख्त कार्रवाई करनी चाहिए. जिला प्रशासन को भी नूरपुर उपमंडल के निजी स्कूल में घटित इस घटना की विस्तृत जांच करवा कर दोषियों को सख्त से सख्त सजा दिलवानी चाहिए. राकेश पठानिया, भाजपा नेता एवं पूर्व विधायक नूरपुर.

निजी स्कूल प्रबंधन द्वारा स्टूडेंट्स के बाल काटने के मामले में अभिभावकों की शिकायत पर मामला दर्ज कर जांच की जा रही है. मामले की जांच के लिए विशेष टीम का गठन किया गया है. पुलिस टीम की रिपोर्ट के आधार पर ही स्कूल प्रबंधन के खिलाफ आपराधिक मामला दर्ज किया जाएगा.

Share With:
Rate This Article
No Comments

Leave A Comment