पानीपत की धागा फैक्‍ट्री में भीषण आग,7 मजदूरों की मौत 3 घायल

पानीपत की धागा फैक्‍ट्री में भीषण आग, 7 मजदूरों की मौत और 3 घायल

पानीपत

पानीपत के कुराड़ गांव की एक धागा फैक्ट्री में भीषण आग लगने से 7 मजदूरों की झुलसकर मौत हो गई. जबकि 3 मजदूर गंभीर रूप से झुलस गए, घायलों को सिविल अस्पताल में भर्ती करवाया गया है. बताया जा रहा है धागा फैक्ट्री में 50 से ज्यादा मजदूर काम कर रहे थे, तभी फैक्ट्री में अचानक आग भड़क उठी जो धीरे-धीरे पूरी फैक्ट्री में फैल गई.

पानीपत: धागा फैक्‍ट्री में भीषण आग लगने से 7 मजदूरों की मौत, 3 घायल

पानीपत: धागा फैक्‍ट्री में भीषण आग लगने से 7 मजदूरों की मौत, 3 घायल

जिसके बाद कुछ मजदूरों को जेसीवी मशीन की मदद से दीवार तोड़कर बाहर निकाला गया. मजदूरों की कहना है कि अगर दमकल विभाग की गाड़ियां वक्त पर पहुंचती तो मजदूरों को बचाया जा रहा था. आग पर काबू पाने के लिए दमकल विभाग की 12 गाड़ियों को लगाया गया. वहीं हादसे के बाद से फैक्ट्री मालिक फरार हैं. पुलिस ने फैक्ट्री मालिक समेत 2 लोगों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है.

पानीपत: धागा फैक्‍ट्री में भीषण आग लगने से 7 मजदूरों की मौत, 3 घायल

पानीपत: धागा फैक्‍ट्री में भीषण आग लगने से 7 मजदूरों की मौत, 3 घायल

शुक्रवार शाम यहां 25 श्रमिक काम कर रहे थे. बिजली गई हुई थी और जनरेटर से मशीनें चल रही थीं. करीब 4:15 बजे बिजली आई तो हाई वोल्टेज के कारण चिंगारी निकली, जो फैक्ट्री के बाहरी हिस्से में रखी कॉटन में जा गिरी, जिससे आग लग गई.

वहां कोई नहीं था, इसलिए किसी को पता नहीं चला. इसके बाद आग भीषण हो गई और अंदर रखे मिंक तक पहुंच गई. अंदर काम कर रहे श्रमिकों ने बाहर निकलने का प्रयास किया, लेकिन गेट के पास आग ज्यादा होने के कारण कोई निकल नहीं पाया.

मजदूर झुलसने लगे और धुंए से दम घुटने लगा. आसपास के लोगों ने पिछले हिस्से से दीवार तोड़कर श्रमिकों को निकाला. तब तक 7 श्रमिक दम तोड़ चुके थे. सूचना मिलने के करीब एक घंटे बाद फायर ब्रिगेड की 12 गाड़ियां मौके पर पहुंची और करीब 6 घंटे के बाद आग पर काबू पाया जा सका.

उधर, हादसे का पता चलते ही CM मनोहर लाल ने डीसी चंद्रशेखर खरे से फोन पर जानकारी ली और मामले की जांच के लिए टीम गठित करने और फैक्ट्री मालिक की गिरफ्तारी के निर्देश दिए.

परिवहन मंत्री कृष्ण लाल पंवार ने सिविल अस्पताल पहुंचकर घायलों का हाल जाना. इसके बाद वे मृतकों के परिजनों से मिले. उन्होंने कहा कि मृतकों के परिजनों घायलों को उचित मुआवजा दिया जाएगा.
वहीं, एसपी राजेश दुग्गल ने बताया कि रात 10 बजे फैक्ट्री में सर्च के दौरान वहां कोई नहीं मिला.

फैक्ट्री मालिक शिव नगर निवासी अजय गुप्ता और विजय गुप्ता दोनों भाई आग लगने के बाद मौके से भाग गए. उनके खिलाफ गैर इरादतन हत्या का केस दर्ज किया है. उनकी गिरफ्तारी के लिए छापेमारी की जा रही है.

Share With:
Rate This Article
No Comments

Leave A Comment