पंजाब विधानसभा चुनाव: केजरीवाल का ‘दलित मेनिफेस्टो’ में चुनावी लॉलीपॉप, किए कई बड़े वादे

समराला

आम आदमी पार्टी पंजाब विधानसभा चुनाव की तैयारियों में जोर-शोर से जुट गई है. पार्टी के संयोजक अरविंद केजरीवाल ने शुक्रवार को चुनाव के मद्देनजर दलित मेनिफेस्टो जारी किया है. उन्होंने वायदा किया कि पंजाब में आम आदमी पार्टी की सरकार बनने की सूरत में एक दलित को प्रदेश का उपमुख्यमंत्री बनाया जाएगा.

इसके अलावा उन्होंने मेनिफेस्टो में दलितों को लुभाने के लिए कई बड़े वादे किए गए हैं. जिनमें दलितों को घर देने का वादा, हाई स्कूल से ऊपर पढ़ने वाले दलित छात्रों को स्कॉलरशिप, दलितों पर हो रहे अत्याचार को रोकने के लिए कमिशन बनाना.

सरकारी नौकरी में दलितों के खाली पड़े पदों को जल्द भरना, व्यापार के लिए बिना गारंटी का 2 लाख तक का लोन मुहैया कराना. दलितों के घर होने वाली शादी के लिए इक्यावन हजार रुपये का कन्यादान देना और दलित बुजुर्गों को 2 हजार रुपये की पेंशन देने का वादा केजरीवाल ने अपने मेनिफेस्टो में किया है.

दरअसल,पंजाब में अगले साल की शुरुआत में विधानसभा चुनाव होने हैं और राज्य की 32 फीसदी जनसंख्या अनुसूचित जाति के लोगों की है. केजरीवाल और उनकी पार्टी को पता है कि चुनाव में दलितों के वोट की बड़ी भूमिका होती है. इसलिए आम आदमी पार्टी ने दलितों के लिए अलग से मेनिफेस्टो जारी किया है.

मेनिफेस्टो में दलितों को केजरीवाल का वादा
1. सबसे पहले आम आदमी पार्टी ने पंजाब में सभी दलितों को घर देने का वादा किया है.
2. हाई स्कूल से ज्यादा शिक्षा प्राप्त दलितों को स्कॉलर स्कीम का फायदा पहुंचाने के लिए स्पेशल सेल बनाने की बात.
3. दलितों पर हो रहे अत्याचार को रोकने के लिए SIT गठित करने का वादा.
4. सरकारी नौकरी में दलितों के खाली सभी पदों को भरा जाएगा.
5. दलितों को छोटे कारोबार करने के लिए बिना किसी गारंटी के 2 लाख रुपये तक लोन देने का वादा.
6. फार्म श्रमिकों के फसल नुकसान होने पर हर महीने 10,000 रुपये का मुआवजा देने का घोषणापत्र में जिक्र.
7. शादियों में मदद के तौर पर मिलने वाले शगुन 51 हजार रुपये तक करने का वादा, बुजुर्गों के पेंशन भी 2000 रुपये महीने करने का वादा.

Share With:
Rate This Article
No Comments

Leave A Comment