चीन में भूकंप के झटके, रिक्‍टर पैमाने पर 6.7 तीव्रता

शंघाई

तजाकिस्तान से सटी चीन की सीमा पर शुक्रवार देर रात भूकंप का तेज झटका महसूस किया गया. रिक्टर स्केल पर इसकी तीव्रता 6.7 बताई गई है. इस भूकंप से अभी तक एक व्यक्ति के मारे जाने की खबर है. इसके अलावा तेज भूकंप कई मकान धराशायी हो गए हैं.

इस भूकंप से रेलवे लाइन को भी काफी नुकसान पहुंचा है. चीन की सरकारी एजेंसी शिन्हुआ के मुताबिक सरकार की तरफ से राहत की सभी एजेंसियों को विभिन्न इलाकों में भेजा गया है.

एजेंसी के मुताबिक यह भूकंप का झटका चीन के दक्षिणी झिनझियांग प्रांत में महसूस किया गया. भूकंप का केंद्र जमीन के 10 किलोमीटर अंदर किर्गिस्तान और ताजिकिस्तान की सीमा पर एकटो काउंटी के करीब था. स्थानीय मीडिया के अनुसार भूकंप रात के साढ़े 10 बजे के करीब आया.

हाल के दिनों में एशिया में भूकंप की घटनाओं में बढ़ोत्तरी देखने को मिली है. इस सप्ताह में लगभग 4 देशों में भूकंप आ चुका है. इनमें चीन के अलावा ताइवान, जापान और भारत शामिल है.

ताइवान में शुक्रवार (25 नवंबर) तड़के 5.4 तीव्रता का भूकंप आया. हालांकि इस भूकंप में किसी के हताहत होने अथवा कोई नुकसान होने की खबर नहीं है. अमेरिकी भूगर्भीय सर्वेक्षण ने बताया कि इसका केंद्र हुआलिआन शहर के पूर्व में 81 किमी दूर और करीब 10 किमी की गहराई में स्थित था.

इससे पहले फरवरी में ताइनान के दक्षिणी शहर में 6.4 तीव्रता का भूकंप आया था. भूकंप के कारण एक अपार्टमेंट परिसर ध्वस्त हो गया था जिसमें 117 लोगों की मौत हो गयी थी. उल्लेखनीय है कि ताइवान 2 टेक्टोनिक प्लेटों के बीच स्थित है और यहां अक्सर भूकंप आते रहते हैं.

इससे पहले उत्तरपूर्वी जापान में गुरुवार (24 नवंबर) को सुबह 5.6 तीव्रता का भूकंप आया. इससे 2 दिन पहले फुकुशिमा परमाणु विद्युत संयंत्र के पास शक्तिशाली भूकंप के बाद सुनामी आयी थी. भूकंप तोक्यो के उत्तरपूर्व से 210 किमी दूर फुकुशिमा के करीब आया.

उल्लेखनीय है कि इससे पहले मंगलवार को 6.9 तीव्रता वाला भूकंप आया था, जिसके कारण सुनामी की लहरें उठीं थीं. सुनामी के कारण फुकुशिमा संयंत्र के पास एक मीटर तक ऊंची लहरें उठी थी.

Share With:
Rate This Article