ऊनाः कांग्रेस ने नोटबंदी के फैसले के खिलाफ जोरदार प्रदर्शन किया

ऊनाः कांग्रेस ने नोटबंदी के फैसले के खिलाफ जोरदार प्रदर्शन किया

ऊना

मुख्यालय पर बृहस्पतिवार को जिला कांग्रेस ने केंद्र सरकार के नोटबंदी के फैसले के खिलाफ जोरदार प्रदर्शन किया. नोटबंदी के बाद यह पहला अवसर था जब कांग्रेस पार्टी के कार्यकर्ताओं केंद्र सरकार को कोसा.

ऊना में जिला कांग्रेस ने रोष रैली निकालकर केंद्र के इस फैसले का विरोध जताया. जिला कांगेस ने केंद्र द्वारा बिना सोचे समझे व बिना तैयारी के नोटबंदी के निर्णय पर कार्यकारी उपायुक्त राजेश मारिया के माध्यम से महामहिम राष्ट्रपति को ज्ञापन प्रेषित किया.

इससे पहले एमसी पार्क में जिला कांग्रेस अध्यक्ष वीरेंद्र धर्माणी की अध्यक्षता में कार्यकर्ताओं ने नोटबंदी के विरोध में धरना दिया. धर्माणी ने कहा कि नोटबंदी के कारण आम आदमी को परेशानी हो रही है. वे कालाधन बाहर लाने के लिए मोदी सरकार के इस निर्णय के खिलाफ नहीं हैं, लेकिन इससे आम जनता को हो रही परेशानी के विरोध में हैं.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नोटबंदी का फैसला जल्दबाजी में लिया है. इस फैसले से 5 प्रतिशत लोगों को निशाना बनाने के लिए देश के 95 प्रतिशत लोगों को परेशानी में डाल दिया है. आज बैंकों से अपनी जमापूंजी निकालने के लिए लोगों को घंटों लाइन में लगे रहना पड़ रहा है, उसके बाद भी लोगों को बैंक में मात्र 2000 रुपये ही मिल रहे हैं.

नोटबंदी से देश के सभी वर्ग को परेशानियों का सामना करना पड़ा है. इससे छोटा व्यापारी, मजदूर, दिहाड़ीदार, किसान, बागवान व छात्र सहित अन्य वर्ग प्रभावित हुए हैं. केंद्र सरकार अपनी नाकामी छुपाने के लिए प्रतिदिन नोटबंदी पर अपने फैसले बदल रही है.

इस अवसर पर पूर्व विस उपाध्यक्ष रामनाथ शर्मा, पूर्व विधायक गणेश दत्त भरवाल, पूर्व जिला अध्यक्ष अविनाश कपिला, पीसीसी सदस्य सतपाल रायजादा, पीसीसी सचिव अजय जगोता, विवेक शर्मा, प्रदेश मीडिया पैनेलिस्ट विजय डोगरा, ऊना ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष हजारी लाल धीमान, हरोली ब्लॉक अध्यक्ष रणजीत राणा सहित अन्य कार्यकर्ता उपस्थित रहे.

Share With:
Rate This Article
No Comments

Leave A Comment