धर्मशालाः बैंक की गलती से खाते में जमा हुए 9 लाख रुपए, ब्लैक मनी समझ रिश्तेदारों में बांट दिए

धर्मशालाः बैंक की गलती से खाते में जमा हुए 9 लाख रुपए, ब्लैक मनी समझ रिश्तेदारों में बांट दिए

धर्मशाला

एक मैडिकल स्टोर मालिक के खाते में बैंक की गलती से 9 लाख रुपए आ गए. धर्मशाला के रहने वाले इस मेडिकल स्टोर ने खुशी-खुशी में सारे पैसे इधर उधर ठिकाने लगा दिए. बैंक को जब गलती का पता चला तो इस व्यक्ति से पैसा लेने की प्रक्रिया शुरू हुई.

शुरू में तो वो आनाकानी करता रहा लेकिन पुलिस की सख्ती के बाद वह पैसा वापस करने को राजी हो गया. जानकारी के मुताबिक केनरा बैंक की हिमाचल के धर्मशाला की कोतवाली शाखा में एक क्लर्क की गलती से यह पैसे स्टोर मालिक के खाते में ट्रांसफर हो गए थे.

जिस खाते से 9 लाख रुपए ट्रांसफर हुए वह खाताधारक मोबाइल पर मैसेज मिलने के बाद तुरंत बैंक पहुंचा. छानबीन के बाद बैंक प्रबंधक ने स्टोर मालिक के खाते से पते की जानकारी लेकर उनसे संपर्क किया और धर्मशाला पुलिस को सूचना भी दी.

स्टोर मालिक ने पुलिस को बताया कि 2 लाख रुपए उसने उधार के चुकाए हैं जबकि 5 लाख रुपए रिश्तेदारों में बांट दिए हैं. 2 लाख रुपए अपने दूसरे बैंक खाते में ट्रांसफर कर दिए हैं. पुलिस ने स्टोर मालिक से 7 लाख रुपए रिकवर कर लिए हैं जबकि 2 लाख रुपए वह बाद में चुकाने की बात कर रहा है.

एस.पी. कांगड़ा संजीव गांधी ने बताया कि स्टोर मालिक ने 2 लाख रुपए जल्द बैंक को लौटने के लिए कहा है. बैंक मैनेजर ने शिकायत में लिखा की केनरा बैंक कोतवाली शाखा में बैंक में कार्यरत क्लर्क की चूक से यह पैसे मेडिकल स्टोर के संचालक के खाता में ट्रांसफर हो गए थे. क्योंकि दोनों बैंक अकाउंट के नंबर एक जैसे ही थे. लेकिन अब मेडिकल स्टोर मालिक इस पैसे को बैंक को लौटाने में आनाकानी कर रहा है.

Share With:
Rate This Article
No Comments

Leave A Comment