अंबाला में 'नेकी की दीवार' खड़ी करने को आगे आए कई हाथ, प्रशासन का भी मिला साथ

अंबाला में ‘नेकी की दीवार’ खड़ी करने को आगे आए कई हाथ, प्रशासन का भी मिला साथ

अंबाला

सामाजिक संस्थाओं और जिला प्रशासन की ओर से जरुरतमंदों की सहायता के लिए दो खास मुहिम शुरू की गई है. एक मुहिम ‘नेकी की दीवार’ नाम से शुरू की गई है, जबकि दूसरी मुहिम ‘आओ और खाओ’ के नाम से.

ambala-1

नेकी की दीवार जैसी मुहिम कई दूसरे शहरों में भी शुरू की जा चुकी है. इस मुहिम के तहत गरीबों और जरुरतमंदों को कपड़े और किताबों जैसी जरुरी की चीजें उपलब्ध कराने की कोशिश की जाएगी. इस मुहिम के तहत एक खास जगह निर्धारित की गई है, जहां जरुरतमंदों की सहायता के लिए आम जन कोई सामान रख सकते हैं. यहां से जरुरतमंद इस सामान को ले सकते हैं. इस मुहिम की शुरुआत अंबाला के डीसी प्रभजोत सिंह ने की. उन्होंने इसे एक अच्छी पहल बताया.

ambala-2

‘नेकी की दीवार’ मुहिम को सफल बनाने के लिए अंबाला नगर निगम भी पूरा सहयोग करेगा और निगम कर्मचारी घर-घर जाकर लोगों को इस मुहिम से जुड़ने के लिए प्रेरित करेंगे. साथ ही जरुरी सामान भी इक्टठा करेंगे. ‘नेकी की दिवार’ मुहिम के शुरू होने के साथ ही लोग इससे जुड़ना शुरू हो गए हैं और जरुरतमंदों की मदद कर रहे हैं.

वहीं, अंबाला में ‘आओ और खाओ’ मुहिम भी शुरू की गई है, जिसके तहत सस्ते दाम में लोगों को खाना उपलब्ध कराया जाएगा. इस मुहिम के तहत मिलने वाली सब्जी-पूरी की थाली की कीमत महज 15 रुपये रखी गई है. अंबाला के प्रशासनिक अधिकारियों ने खाना खाकर खाने की गुणवत्ता परखी और इस पहल की तारीफ की.

ambala-3

चंडीगढ़ से शुरु हुई ‘नेकी की दिवार’ मुहिम अब हरियाणा के कई शहरों में शुरू की जा चुकी है और जरुरुतमंदों को मदद मिल रही है. लेकिन अंबाला में इस मुहिम को सफल बनाने के लिए जिला प्रशासन और नगर निगम की ओर से भी पूरा सहयोग किया जा रहा है.

रिपोर्ट- तरुण कपूर

Share With:
Rate This Article
No Comments

Leave A Comment