शिमलाः काले धन को सफेद करने का निकाला ऐसा तरीका, बेबस दिखे बैंक

शिमलाः काले धन को सफेद करने का निकाला ऐसा तरीका, बेबस दिखे बैंक

शिमला

काले धन को सफेद बनाने का तोड़ निकाल लिया है. 500-1000 के बड़े नोट बदलने के पहले ही दिन बृहस्पतिवार को काला धन रखने वालों ने अलग-अलग बैंकों में जाकर कई लाख के नोट बदलवा लिए. योजना खत्म होने तक ऐसे लोग करोड़ों रुपए काले से सफेद कर लेंगे. सभी बैंक बेबस दिखे. उनके पास कोई तरीका नहीं जिससे वह इस प्रक्रिया को रोक सकें.

रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) की गाइडलाइन के मुताबिक एक दिन में आईडी एड्रेस प्रूफ दिखाकर सिर्फ 4,000 रुपये तक के नोट बदलवाए जा सकते हैं. लेकिन नोट बदलते समय जो प्रक्रिया अपनाई जा रही है, वह मैनुअल है। इसकी वजह से एक दिन में एक ही आईडी प्रूफ पर कई बैंकों से नोट बदलने वालों की न तो शिनाख्त हो सकती है और न ही उन्हें ऐसा करने से रोका जा सकता है.

बैंक अधिकारी अब अपने हेड ऑफिसों के जरिये RBI को काला धन सफेद होने के इस रास्ते को बंद करने के लिए रिपोर्ट भेज रहे हैं. एक बैंक अफसर ने बताया कि गाइडलाइन में स्पष्टता न होने की वजह से छोटी मात्रा में काला धन रखने वालों ने फायदा उठाना शुरू कर दिया है. ये लोग अपने नौकरों और रिश्तेदारों के जरिये नोट बदल रहे हैं.

छह तरह के आईडी प्रूफ मान्य हैं. कोई आदमी किसी बैंक की किसी शाखा में जाकर पुराने नोट के बदले नए नोट ले लेता सकता है. हम कुछ नहीं कर सकते. वे कहते हैं- रुपये जमा करने या नोट बदलने में बैंक किसी को इनकार नहीं कर सकते. हां, नियमानुसार डाक्यूमेंट लेना जरूरी है. यही वजह है कि बैंक सिर्फ कागजी कार्रवाई कर रिपोर्ट मुख्यालय को भेज रहे हैं.

Share With:
Rate This Article
No Comments

Leave A Comment