भारत ने मौत की सजा पर रोक लगाने वाले UN के प्रस्ताव का किया विरोध

संयुक्त राष्ट्र

भारत ने संयुक्त राष्ट्र में मौत की सजा पर रोक लगाने वाले प्रस्ताव का विरोध किया है. मानवाधिकार मामलों से जुड़ी महासभा की विशेष समिति ने इससे संबंधित प्रस्ताव स्वीकार कर लिया है. UN में भारतीय काउंसलर मयंक जोशी ने कहा कि मौत की सजा पर रोक का प्रस्ताव घरेलू कानून के खिलाफ है.

यह कानून बनाने और दंड निर्धारित करने के संप्रभु अधिकार के भी विरुद्ध है. सिंगापुर की ओर से मृत्युदंड पर रोक संबंधी प्रस्ताव का न्यूजीलैंड समेत कुछ अन्य देशों ने समर्थन किया है. भारत के अलावा अमेरिका और अन्य सदस्य इसके विरोध में हैं.

महासभा की समिति ने इसे 38 के मुकाबले 115 मतों से स्वीकार कर लिया है. भारत ने इसके खिलाफ में वोट किया है. मयंक जोशी ने प्रस्ताव पर बहस के दौरान इसका पुरजोर विरोध किया. उन्होंने समिति को बताया कि भारत में दुर्लभतम मामले में ही मौत की सजा दी जाती है. इससे पहले दोषी को कई स्तरों पर खुद को निर्दोष साबित करने का मौका दिया जाता है. पिछले साल याकूब मेनन को फांसी पर चढ़ाया गया था.

Share With:
Rate This Article
No Comments

Leave A Comment