नोटबंदी: बैंक अगले सप्ताह से शादियों के लिए दे सकते हैं ढाई लाख

नोटबंदी: बैंक अगले सप्ताह से शादियों के लिए दे सकते हैं ढाई लाख

दिल्ली

बैंकों से शादी-ब्याह के लिये ढाई लाख रुपये तक की नकदी निकासी अगले सप्ताह से शुरू हो सकती है. इस बारे में रिजर्व बैंक से संचालन संबंधी दिशानिर्देश प्राप्त होने के बाद अगले सप्ताह से अमल हो सकता है. हालांकि, केंद्र सरकार ने इसी सप्ताह शादियों के लिये ढाई लाख रुपये देने के निर्देश जारी कर दिए थे.

पंजाब नेशनल बैंक की प्रबंध निदेशक उषा अनंत सुब्रमणियन ने कहा, “रिजर्व बैंक से संचालन संबंधी दिशानिर्देश नहीं मिलने की वजह से हम वर-वधू पक्ष के परिवार प्रत्येक को ढाई लाख रुपये नहीं दे पाए हैं. हम इस संबंध में रिजर्व बैंक से निर्देश की प्रतीक्षा कर रहे हैं.”

अनंत सुब्रमणियम ने कहा, “हमें इस बारे में संचालन दिशानिर्देश सोमवार को मिलने की उम्मीद है और मंगलवार से बैंक शाखायें शादियों के लिए नकदी का वितरण कर सकतीं हैं. हमें यह पता है कि यह राशि वर अथवा वधू खुद या फिर उनके माता-पिता में से कोई एक निकाल सकता है. वर और वधु दोनों के परिवार ढाई-ढाई लाख रुपये तक राशि की निकासी कर सकते हैं.” अन्य बैंक भी रिजर्व बैंक से निर्देश प्राप्त नहीं होने की वजह से यह सुविधा उपलब्ध नहीं करा पा रहे हैं.

कॉपरेशन बैंक के एक वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक, “शादी के लिए राशि की निकासी रिजर्व बैंक की अधिसूचना के बाद ही की जा सकेगी. अधिसूचना में निकासी के बारे में विभिन्न प्रकार की औपचारिकताओं के बारे में निर्देश दिए जाएंगे, उसके बाद ही इस पर अमल हो सकेगा.”

सरकार ने पिछले सप्ताह फैसला किया है कि जिन परिवारों में शादी है, उन्हें अपने बैंक खातों से ढाई लाख रुपये नकद निकासी की अनुमति होगी. इसके साथ ही परिवारों को विभिन्न खर्चों के लिए चेक और डिजिटल माध्यम अपनाने के लिये भी प्रोत्साहित किया जायेगा. सरकार की घोषणा के बाद से ही जिन परिवारों में शादी है, वह बैंक शाखाओं में धन निकासी के लिए पहुंचने लगे लेकिन उन्हें यह कहते हुए खाली हाथ लौटा दिया गया कि रिजर्व बैंक अथवा उनके मुख्यालय से इस बारे में कोई भी निर्देश प्राप्त नहीं हुआ है.

पंजाब नेशनल बैंक के एटीएम के बारे में अनंत सुब्रमणियन ने कहा कि बैंक के कुल 9,000 एटीएम में से 2,000 मशीनों को नए नोटों के अनुरूप चालू कर दिया गया है. उनसे नए नोट जारी किए जा रहे हैं. उन्होंने कहा कि अगले सप्ताह कुछ और एटीएम को नए नोटों के अनुरूप ढाल दिया जाएगा जिससे स्थिति और सामान्य हो जाएगी.

बैंकों में सस्ती जमा पूंजी आने से ब्याज दरों में कमी के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि बैंक स्थिति पर नजर रखे हुए हैं और संभवत: शनिवार को ही सावधि जमा दरों में कटौती की जा सकती है. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के आठ नवंबर को 500 और 1,000 रुपये के नोट बंद करने की घोषणा के बाद से अब तक पंजाब नेशनल बैंक को 47,000 करोड़ रुपये की जमा प्राप्त हुई है.

Share With:
Rate This Article
No Comments

Leave A Comment