उंगली पर बैंकों द्वारा स्याही लगाने पर EC को ऐतराज, फाइनेंस मिनिस्ट्री को लेटर लिख जताई नाराजगी

नई दिल्ली

नोटबंदी के बाद बैंकों में कैश एक्सचेंज करते वक्त लोगों की उंगली पर स्याही लगाई जा रही है, शुक्रवार को इस पर इलेक्शन कमीशन ने एतराज जताया है, इसे लेकर कमीशन ने फाइनेंस मिनिस्ट्री को लेटर लिखा है.

कमीशन का कहा है कि कई राज्यों में उप चुनाव होने वाले हैं, ऐसे में स्याही लगाने से दिक्कत होगी बता दें कि दो दिन से बैकों में पैसा निकालने के बाद उंगली पर स्याही का निशान लगाया जा रहा है.

मंगलवार को इकोनॉमिक अफेयर्स सेक्रेटरी शक्तिकांत दास ने कहा था कि 500-1000 के पुराने नोटों को जो एक बार एक्सचेंज करा लेगा, उसके दाएं हाथ की उंगली पर स्याही का निशान लगा दिया जाएगा.
जैसे चुनाव में वोटिंग के बाद होता है, वैसे ही देश में वोटिंग से अलग किसी काम में इतने बड़े पैमाने पर लोगों की उंगलियों पर स्याही का इस्तेमाल की बात थी, पर इलेक्शन कमीशन ने इस पर अब एतराज जताया है.

चुनाव नियमों के मुताबिक, वोट डालने वालों की इंडेक्स फिंगर पर स्याही लगाई जाती है, इंडेक्स फिंगर ना होने पर दूसरी उंगली पर और राइट हैंड ना होने पर लेफ्ट हैंड में स्याही लगाई जाती है।
चुनाव में अगर किसी वोटर के दोनों हाथ नहीं है, तो पैर के नाखूनों पर स्याही लगाए जाने का नियम है.

Share With:
Rate This Article