SYL के मुद्दे पर बंटी कांग्रेस, हुड्डा और तंवर करेंगे अलग-अलग पार्टी मीटिंग

पानीपत

हाईकमान और बड़े नेताओं के तमाम प्रयासों के बावजूद हरियाणा कांग्रेस की कलह कम नहीं हुई है, पूर्व सीएम भूपेंद्र सिंह हुड्डा और प्रदेशाध्यक्ष अशोक तंवर के बीच पैदा हुए मतभेद इस कदर बढ़ गए हैं कि अब इसका असर मुद्दों पर भी आने लगा है.
एसवाईएल नहर मामले में हाल ही हरियाणा के पक्ष में आए सुप्रीम कोर्ट फैसले और नोट बंदी जैसे मुद्दों पर भी दोनों ने अलग-अलग मीटिंगें रख ली हैं, प्रदेशाध्यक्ष अशोक तंवर ने जहां सोमवार को गुरुग्राम में प्रदेश पदाधिकारियों की मीटिंग बुला ली है, वहीं पूर्व सीएम भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने मंगलवार को चंडीगढ़ में सभी विधायक, सांसद, पूर्व विधायक, पूर्व सांसद और पूर्व जिला प्रधानों की मीटिंग बुलाई हुई है.
हरियाणा कांग्रेस के प्रदेश प्रवक्ता कुलदीप सोनी ने बताया कि प्रदेश पदाधिकारियों की मीटिंग में विशेष आमंत्रित सदस्यों को नहीं बुलाया गया है, केवल पदाधिकारी ही बुलाए गए हैं, गुरुग्राम के कमान सराय स्थित कांग्रेस कार्यालय में सुबह 11 बजे से शुरू होने वाली मीटिंग में एसवाईएल नहर मामले के साथ-साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ओर से हाल ही बंद किए गए 500-1000 के नोट की वजह से आम लोगों को हो रही दिक्कतों के बारे में विचार किया जाएगा.

Share With:
Rate This Article