गाजीपुर में बोले पीएम मोदी, गरीब चैन की नींद सो रहा, कालेधन वालों की नींद उड़ी

गाजीपुर

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उत्तर प्रदेश के गाजीपुर में एक जनसभा को संबोधित किया. गाजीपुर से कोलकाता की ट्रेन को हरी झंडी दिखाई. इस ट्रेन का नाम शब्दभेदी है. पीएम ने भोजपुरी में अपने भाषण की शुरुआत की.

500 और 1000 के नोटों पर बैन के बाद उत्तर प्रदेश में ये प्रधानमंत्री की पहली रैली थी. पीएम ने कहा कि ये भूमि वीर अब्दुल हामिद की है, जिसने 65 के युद्ध में पाकिस्तान को पाठ पढ़ाया. पीएम ने कहा कि मैं यहां के लोगों का धन्यवाद करना चाहता हूं, जिन्होंने 2014 में मुझ पर विश्वास दिखाया.

नोटबंदी पर पीएम ने कहा कि गरीब चैन की नींद सो रहा है, अमीर नींद की गोली खरीद रहा है. पीएम ने कहा कि यूपी ने देश को कई प्रधानमंत्री दिए. मैं यहां से नौवां प्रधानमंत्री हूं. मोदी ने यहां पर देश के पहले प्रधानमंत्री पं. जवाहर लाल नेहरू का जिक्र करते हुए कहा कि उनके सामने गाजीपुर के सांसद विश्वनाथ ने 1962 में यहां के हालात के बारे में बताया था. तब नेहरू ने पटेल कमेटी बनाई थी. नेहरू चले गए, कमेटी रह गई. पीएम ने कहा कि मैं पंडितजी के जन्मदिन पर अधूरा काम पूरा करने आया हूं.

पीएम ने कहा कि हिंदुस्तान में धन की कमी नहीं है. लेकिन जहां धन होना चाहिए, वहां नहीं है. आपने मुझे भ्रष्टाचार से लड़ने के लिए पीएम बनाया. बेइमानों के पास कोई चारा नहीं है. पीएम ने कहा कि मैं जानता हूं कि नोटबंदी से आपको तकलीफ हो रही है.

लेकिन कोई भी काम करो, थोड़ी बहुत तो तकलीफ होती है. मोदी ने इस दौरान मायावती पर हमला बोलते हुए कहा कि नोटों की मालाओं से मुंडी भी नहीं दिखती थी. कुछ लोग जनता को भड़काने में लगे हुए हैं.

कांग्रेस पर हमला बोलते हुए पीएम मोदी ने कहा कि आपने आपातकाल लगाकर देश को जेलखाना बना दिया था. 19 महीने तक लोगों को कांग्रेस ने जेल में भरा. पुलिस लोगों को जेल में डालने की धमकी देती थी.

आपातकाल लगाने वाले लोगों की बात कर रहे हैं. पीएम ने कहा कि मैंने कड़क चाय बनाई है. गरीब को कड़क चाय पसंद होती है, अमीर को नहीं. पीएम ने कांग्रेस पर कहा कि आपने भी चवन्नी बंद की थी. आपने अपनी बराबरी का काम किया, मैंने अपनी बराबरी का.

मोदी ने कहा कि नोटबंदी आतंकवाद, उग्रवाद और नक्सलावाद से लड़ने के लिए है. नोटबंद से जाली नोटों का जाल बंद हो गया है. इसके बिना जाली नोटों पर रोक नहीं लग पाती. सीमापार से नकली नोटों का जाल चलता था.

प्रधानमंत्री मोदी ने पीएम ने यहां रेलवे के कई प्रोजेक्ट्स को भी हरी झंडी दिखाई. मोदी ने इस दौरान गाजीपुर और मऊ को जोड़ने वाले ताड़ी घाट रेलवे पुल का शिलान्यास किया. इसकी मांग कई दशकों से उठ रही थी. पीएम ने कहा कि हमने किसानों का शोषण रोकने की व्यवस्था की. फसल बीमा योजना से किसानों की आपदा से रक्षा होगी. इस योजना से कटाई के साथ नुकसान की भी भरपाई होगी.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की भी गाजीपुर के आरटीआई मैदान में रैली होने जा रही है. 1977 से बाद ऐसा पहली बार होगा कि कोई प्रधानमंत्री पूर्वांचल के विकास परियोजनाओं के शिलान्यास व लोकार्पण के लिए गाजीपुर आ रहा है.

गाजीपुर से चुनावी अभियान शुरू करेंगे मुलायम प्रधानमंत्री के बाद समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव 23 नवंबर को गाजीपुर से ही विधानसभा चुनाव-2017 के लिए शंखनाद करेंगे. सपा नेता प्रधानमंत्री की रैली से पहले ही दावा कर चुके हैं कि मुलायम सिंह यादव की रैली में मोदी की रैली से चार गुना ज्यादा लोग जुटेंगे.

Share With:
Rate This Article