हिलेरी क्लिंटन ने FBI डायरेक्‍टर को ठहराया अपनी हार का जिम्मेदार

हिलेरी क्लिंटन ने FBI डायरेक्‍टर को ठहराया अपनी हार का जिम्मेदार

दिल्ली

हिलेरी क्लिंटन ने राष्ट्रपति पद के लिए हुए चुनाव में रिपब्लिकन उम्मीदवार डोनाल्ड ट्रंप के हाथों मिली हार के लिए FBI को जिम्मेदार ठहराया है. हिलेरी ने दावा किया है कि उनके ईमेल खातों की जांच दोबारा शुरू करने के एजेंसी के फैसले ने उन्हें ऐतिहासिक जीत की ओर ले जा रही रफ्तार को खत्म कर दिया.

हिलेरी ने कल एक सम्मेलन के दौरान वित्त पोषकों और दानदाताओं से कहा, इस चुनाव के सफल न होने के कई कारण हैं. हमारा विश्लेषण यह है कि कोमी के पत्र में उठाए गए संशयों ने हमारी रफ्तार को रोक दिया. हालांकि वे संशय आधारहीन ही साबित होने थे.

हिलेरी ने कहा कि जब तक FBI के निदेशक जेम्स कोमी ने कांग्रेस के नेतत्व को पत्र लिखकर यह नहीं कहा था कि उन्होंने ईमेल स्कैंडल में जांच दोबारा शुरू कर दी है, तब तक हमारे (हिलेरी के) अभियान को जीत मिल रही थी.

चुनाव के ठीक 2 दिन पहले FBI ने एक बार फिर कांग्रेस के नेतत्व को यह पत्र भेजा कि उसे उन 6.5 लाख ईमेलों की जांच में कुछ नया नहीं मिला है. यह इन ईमेलों की प्रारंभिक जांच थी. ये ईमेल एजेंसी को हिलेरी की एक सहयोगी हुमा आबेदीन के लैपटॉप से मिले थे, जिसे उन्होंने अपने से अलग रह रहे पति एंथनी वीनर के साथ साझा किया था.

पूर्व विदेश मंत्री हिलेरी (69) ने कहा कि दूसरे पत्र ने हालांकि उन्हें क्लीनचिट दे दी थी लेकिन चूंकि इससे ट्रंप के समर्थकों को नई उर्जा मिल गई, इसलिए इस पत्र से हमें कहीं ज्यादा नुकसान हुआ. हालांकि हिलेरी को मिले लोकप्रिय मतों की संख्या ज्यादा है लेकिन निर्वाचक मंडल के 270 वोट जीत लेने के कारण ट्रंप को विजेता घोषित किया गया.

हिलेरी के अभियान प्रबंधक रॉबी मूक ने कहा कि पूर्व विदेश मंत्री का राष्ट्रपति चुनाव जीतना तय था लेकिन एफबीआई के 2 पत्रों ने स्थिति पलट दी. मूक ने चुनावी हार के लिए तीसरे दल के उम्मीदवार जिल स्टीन को भी जिम्मेदार ठहराया.

Share With:
Rate This Article
No Comments

Leave A Comment