SYL विवाद: पंजाब कांग्रेस के 42 विधायकों ने दिया इस्तीफा, पंजाब जाने वाली बसों को हरियाणा सरकार ने रोका

चंडीगढ़

SYL मामले पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद जहां पंजाब में राजनीति तेज हो गई है, वहीं इसके चलते हरियाणा रोडवेज ने जींद औक सिरसा से पंजाब जाने वाली सभी रूटों की बसें बंद कर दी हैं. परिवहन विभाग ने सुरक्षा की दृष्टि से यह कदम उठाया है.

इस मुद्दे पर कांग्रेस के 42 विधायकों ने एक साथ इस्तीफा दे दिया. पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अ‍मरिंदर सिंह गुरुवार को ही लोकसभा से इस्तीफा दे चुके हैं.

syl-1
विधायकों के साथ इस्तीफा देने के बाद कैप्टन अमरिंदर ने कहा कि हम अपने विधायकों और सांसदों के साथ राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी को मेमोरेंडम सौपेंगे. उन्होंने कहा, ‘हम वर्तमान सरकार के खिलाफ विरोध शुरू करेंगे क्योंकि सरकार पंजाब के हित में काम नहीं कर रही है. कांग्रेस के सभी विधायकों के इस्तीफे के बाद राजनीतिक पंडित पंजाब में विधानसभा चुनाव से पहले राष्ट्रपति शासन की भी आशंका जता रहे हैं.

गौरतलब है कि सुप्रीम कोर्ट ने गुरुवार को सतलुज यमुना लिंक नहर पर निर्माण कार्य को जारी रखने का आदेश दिया है. सुप्रीम कोर्ट के फैसले तुरंत बाद इस मसले को लेकर पंजाब के मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह कैबिनेट की आपात बैठक बुलाई थी. बैठक में फैसला लिया गया कि पंजाब पानी का एक भी बूंद पंजाब से बाहर जाने नहीं देगा.

प्रकाश सिंह बादल की अगुवाई में हुई इस आपात में फैसला लिया गया कि इस मसले को लेकर राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी से अपील की जाएगी कि वो भी सुप्रीम कोर्ट के फैसले को ना मानें. इस मसले को लेकर पंजाब विधानसभा का विशेष सत्र 16 नवंबर को बुलाया गया है.

Share With:
Rate This Article