अमृतसरः आम आदमी पार्टी ने अनाज मंडियों में किया धरना-प्रदर्शन

अमृतसरः आम आदमी पार्टी ने अनाज मंडियों में किया धरना-प्रदर्शन

अमृतसर

आम आदमी पार्टी ने अमतृसर की अलग-अलग अनाज मंडियों में प्रदेश सरकार के खिलाफ प्रदर्शन किया, आप नेताओं का कहना है कि उनकी पार्टी किसानों के साथ खड़ी है, और वो किसानों के साथ किसी भी तरह का अन्याय नहीं होने देंगे.

हालांकि अमृतसर के आढ़ती एसोसिएशन के अध्यक्ष ने धान की खरीद खत्म होने के बाद हो रहे आम आदमी पार्टी के धरना-प्रदर्शन पर सवाल उठाए है.

प्रदर्शन के दौरान गुरविंदर सिंह शामपुरा ने कहा कि किसानों की 11-21 बासमती की फसल जो 2 साल पहले 5 हजार रुपए प्रति क्विंटल बिकी थी, वह अब 2200 रुपए में बिक रही है. इस बार परमल धान का मूल्य भी किसान को 1350 रुपए से अधिक नहीं दिया जा रहा.

उन्होंने कहा कि फसल का रेट कम देकर बादल सरकार किसानों की लूट कर रही है. मार्केट कमेटी में सिर्फ एक परिवार का राज चलता है, किसानों से कम रेट पर फसल खरीद कर रात के समय गाड़ियों में भर ले जाई जाती है. कोई पूछने वाला नहीं.

शामपुरा ने कहा कि केंद्र पंजाब सरकार की लोगों को लूटने की सांझी नीति है. उन्होंने कहा कि अगर लोगों ने सुख की रोटी खानी है तो इस सरकार से छुटकारा पाना पड़ेगा. इस मौके पर हलके के जनरल सेक्रेटरी सुखजिंदर सिंह दाबांवाल, सुखवंत सिंह उप प्रधान हलका गुरदासपुर, बलजिंदर सिंह इंचार्ज एक्स सर्विसमैन विंग हलका गुरदासपुर, मैनेजर अतर सिंह मीडिया इंचार्ज, करनैल सिंह, नरिंदर सिंह, वरदीप सिंह, गुरमीत सीकरी, साहिब सिंह, सविंद्र सिंह, राजू भुल्लर, तीर्थ सिंह विरदी, सरबप्रीत सिंह, जसबीर सिंह, सरपंच जसपाल सिंह, सरदूल सिंह, पुरषोतम सिंह मौजूद थे.

दीनानगरमें आम आदमी पार्टी के हलका उम्मीदवार जोगिंदर सिंह छीना की अगुवाई में सरकार के खिलाफ प्रदर्शन किया गया. धरने को संबोधित करते जोगिंदर सिंह छीना ने कहा कि किसानों हितैषी कहलाने वाली पंजाब सरकार के शासन में किसान आत्महत्याएं कर रहे हैं.

फसल के निर्धारित रेट में की जा रही कटौती कर किसानों की लूट है. उन्होंने कहा कि पिछले समय के दौरान बादल सरकार ने 12 हजार करोड़ रुपए का घोटाला किया. इस संबंधी आरबीआई द्वारा उठाए सवालों का सरकार पुख्ता जबाव नहीं दे पाई. उस वजह से आरबीआई ने ओवर ड्राफ्ट पर रोक लगा दी है. इसका प्रभाव किसानों की अदायगी पर हो रहा है.

छीना ने कहा कि पहले कांग्रेस और अब अकाली-भाजपा ने पंजाब को लूट कर खोखला कर दिया है. लोग इन दोनों पार्टियों से तंग चुके हैं और बदलाव का इंतजार कर रहे हैं. इस दौरान परमजीत कौर, हकीकत राय, दविंदर पाल सिंह, लखविंदर सिंह, कमल कुमार, बलविंदर सिंह, सुभाष मेहता, भजन सिंह, तरसेम सिंह, बलविंदर डालिया, रूप लाल सैनी, करतार चंद, रमेश भटोआ, सूरत सिंह, अमरदीप सिंह, नबंरदार रघुनाथ सिंह शामिल थे.

Share With:
Rate This Article
No Comments

Leave A Comment