अनिल कुंबले ने बनाया नियम, चोटिल खिलाड़ियों को वापसी के लिए खेलना ही होगा घरेलु क्रिकेट

दिल्ली

भारतीय क्रिकेट टीम के मुख्य कोच अनिल कुंबले ने एक नियम बनाया है. वो यह कि चोट से उबर रहे खिलाड़ियों को राष्ट्रीय टीम में वापसी करने पर अपने नाम का विचार कराने के लिए घरेलू क्रिकेट में खेलना होगा.

बीते समय में ऐसे कई उदाहरण रहे हैं जब खिलाड़ी गंभीर चोट के बाद तेजी से वापसी के चक्कर में फिर चोटिल हो गए. रोहित शर्मा, के. एल राहुल, शिखर धवन और भुवनेश्वर कुमार चोटिल खिलाड़ियों की सूची में शामिल हैं. कुंबले को लगता है कि खिलाड़ियों के साथ बातचीत इसमें अहम है क्योंकि उनकी वापसी की उत्सुकता को समझा जा सकता है.

कुंबले ने कहा, किसी भी टीम की गतिविधि में बातचीत अहम है. अच्छा कर रहे हैं या नहीं, लेकिन चोटिल खिलाड़ियों के साथ बातचीत इतनी ही अहम है. इस खेल को खेलने के बाद मैं जानता हूं कि जब कोई और खिलाड़ी खेल रहा होता है तो उनके दिमाग में क्या चल रहा होता है. वह उम्मीद करता है कि उसकी टीम और वह खिलाड़ी अच्छा करे, लेकिन उन्हें एक साथ रखना काफी अहम होता है.

कुंबले राहुल और रोहित के लिए बहुत दुखी थे जिन्हें हाल में जांघ की गंभीर चोट लगी थी जिसकी सर्जरी की जरूरत हो सकती है. कोच ने कहा, यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि केएल राहुल जो इतना बढ़िया खेला, अब नहीं खेल रहा.

इसी तरह भुवी, शिखर. रोहित के लिए यह बड़ा झटका है. रोहित के लिए बहुत दुखी हूं क्योंकि वह टेस्ट प्रारूप में बढ़िया कर रहा था. निश्चित रूप से हम रोहित की छोटे प्रारूप में अहमियत जानते हैं.

Share With:
Rate This Article
No Comments

Leave A Comment